इंदौर में निगमकर्मी की हत्या के मामले में एक हिरासत में

इंदौर। के शहर में आज सुबह हुई एक निगमकर्मी शुभम कुशवाह की हत्या के मामले में पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में लिया हैं और इधर ने पुलिस पर सहयोग न करने के आरोप लगाते हुए पुलिस को ही हत्याकांड के लिए जिम्मेदार बताया हैं। द्वारा मृतक के परिवार के एक सदस्य को नौकरी और परिजनों को 2 लाख रुपए देने की आश्वासन दिया गया हैं।   
       
नगर पुलिस अधीक्षक अजय जैन ने बताया कि सुबह आवारा पशुओं को पकड़ने गए इंदौर नगर निगम के दल पर पशुपालकों ने हमला कर दिया गया। इस दौरान नंदानगर निवासी एक निगम कर्मी शुभम कुशवाह (37) की हत्या कर दी गई। मामले में तीन नामजद आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया हैं। वही एक संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही हैं।
निगम उपायुक्त महेंद्र सिंह चौहान ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि अकसर आवारा पशु पालकों के विरुद्ध कार्यवाही करने पहुंची निगम टीम को स्थानीय पुलिस का सहयोग नही मिलता। उन्होंने हीरानगर थाना प्रभारी पर आरोप लगाया कि आज सुबह भी उनसे सुरक्षा हेतु साथ चलने एवं बल दिए जाने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने बल उपलब्ध नहीह कराया। उन्होंने स्थानीय थाना प्रभारी पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्यवाही की मांग की।
    
शुभम के पिता राजेश कुशवाह बताया मेरे बेटे की हत्या निगम के अधिकरियो की लापरवाही से हुई हैं। बगैर पुलिस बल के संवेदनशील क्षेत्र में निगम को कार्यवाही नही करनी थी। उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की हैं।
          
नगर निगम की महापौर श्रीमती मालनी गौड़ ने बताया कि वे फिलहाल भोपाल में ही हैं। उन्होंने कहा घटना की संपूर्ण जानकारी से मुख्यमंत्री और गृह मंत्री को अवगत कराया हैं। उन्होंने कहा कि घटना में लापरवाह और दोषी आरोपियों के विरुद्ध जांच कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। गौड़ ने आश्वासन दिया है कि मृतक के परिवार के एक सदस्य को निगम में नौकरी दी जाएगी। साथ ही परिजनों को तत्काल दो लाख रुपए दिए जाने के निर्देश दिए हैं।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :