ताजमहल : भारत की शान और प्रेम का प्रतीक चिह्न...

TajMahal
 
 
आगरा का और माना जाता है। का तीसरा बड़ा जिला आगरा ऐतिहासिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है। मुगलों का सबसे पसंदीदा शहर होने के कारण ही उन्होंने ‍दिल्ली से पहले आगरा को अपनी राजधानी बनाया। 
 
इतिहास के अनुसार इब्राहिम लोदी ने इस शहर को सन् 1504 में बसाया था। जिस समय इस शहर की स्थापना की गई, उस समय किसी ने यह कल्पना नहीं की होगी कि यह शहर पूरे विश्व में अपनी खूबसूरती के लिए परचम लहराएगा। जिसे आज भी दुनिया के सात अजूबों में शुमार किया जाता है। 
 
इतिहास : स्थापत्य कला की जीती-जागती तस्वीर आगरा शहर दिल्ली से करीब 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जिसे बनाने के लिए बगदाद से एक कारीगर बुलवाया गया जो पत्थर पर घुमावदार अक्षरों को तराश सकता था। इसी तरह बुखारा शहर, जो मध्य एशिया में स्थित हैं, वहां से जिस कारीगर को बुलवाया गया वह संगमरमर के पत्थर पर फूलों को तराशने में दक्ष था। विराट कद के गुंबदों का निर्माण करने के लिए तुर्की के इस्तम्बुल में रहने वाले दक्ष कारीगर बुलाया गया तथा मिनारों का निर्माण करने के लिए समरकंद से दक्ष कारीगर को बुलवाया गया। 
 
इस प्रकार ताजमहल के निर्माण से पूर्व छ: महीनों में कुशल कारीगरों को तराश कर उनमें से 37 दक्ष कारीगर इकट्ठे किए गए, जिनके देखरेख में बीस हजार मजदूरों के साथ कार्य किया गया। इसी प्रकार ताज निर्माण में लगाई गई सामग्री संगमरमर पत्थर राजस्थान के मकराणा से, अन्य कई प्रकार के कीमती पत्थर एवं रत्न बगदाद, अफगानिस्तान, तिब्बत, इजिप्त, रूस, ईरान आदि कई देशों से इकट्‍ठा कर उन्हें भारी कीमतों पर खरीद कर ताजमहल का निर्माण करवाया गया। 
 
ई.1630 में शुरू हुआ इसका निर्माण कार्य करीब 22 वर्षों में पूर्ण हुआ, जिसमें लगभग बीस हजार मजदूरों का योगदान माना जाता है। इसका मुख्य गुंबद 60 फीट ऊंचा और 80 फीट चौड़ा है।
 
मुगल बादशाह की मुहब्बत और शिद्दत का परिणाम ही है, 'ताजमहल' जिसे खूबसूरती का नायाब हीरा कहा जाता है। गुंबदनुमा इस इमारत को जब आप सिर उठाकर ऊपर देखते हैं तो इसकी नक्काशीदार छतें और दीवारें किसी आश्चर्य से कम नहीं लगतीं। इसका यह इतिहास तो बच्चे-बड़े सभी की जुबान पर है कि मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी दूसरी पत्नी मुमताज महल की याद में ताजमहल का निर्माण करवाया था। 
 
यमुना नदी के किनारे सफेद पत्थरों से निर्मित अलौकिक सुंदरता की तस्वीर 'ताजमहल' न केवल भारत में, बल्कि पूरे विश्व में अपनी पहचान बना चुका है। प्यार की इस निशानी को देखने के लिए दूर देशों से हजारों सैलानी यहां आते हैं। दूधिया चांदनी में नहा रहे ताजमहल की खूबसूरती को निहारने के बाद आप कितनी भी उपमाएं दें, वह सारी फीकी लगती हैं। 
 
आगरा में ताजमहल के अलावा भी कई चीजें देखने लायक हैं : जैसे... 
 
1. आगरा फोर्ट (रेड फोर्ट)। आगरा फोर्ट यहां के महत्‍वपूर्ण इमारतों में से एक है। इसका निर्माण ई. 1565 में मुगल सम्राट अकबर ने करवाया था। स्थापत्य कला का यह बेजोड़ नमूना लाल पत्थरों से निर्मित हैं। इसमें जहांगीर महल (दीवाने-ए-खास) भी बना है, जो खूबसूरत शी‍शमहल के रूप में प्रचलित है। 
 
2. फतेहपुर सीकरी। आगरा से लगभग 35 किलोमीटर दूर स्थित इस स्थान को अकबर ने अपनी राजधानी बनाया था, जो स्थापत्य की बेजोड़ कलाओं से परिपूर्ण है। 
 
3. मेहताब बाग। यमुना नदी की विपरीत दिशा में ताजमहल' के पास ही बना हुआ है मेहताब बाग। कई तरह के फूलों और अनेक पेड़-पौधों से सुसज्जित होने के कारण विदेशी‍ सैला‍नियों को काफी लुभाता है। 
 
4. रामबाग। रामबाग को बाबर ने 1528 ई. में बनवाया था। यह ताजमहल के उत्तरी भाग में ढाई किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है, जिसे मुगलों द्वारा निर्मि‍त सबसे पुराने बागों में से एक माना जाता है। 
 
5. जामा मस्जिद। शाहजहां की बेटी जहांआरा बेगम की याद में सन् 1648 ई. में बनाई गई थी यह जामा मस्जिद। बड़ी ही खूबसूरती से इसके गुंबद भी तराशे गए हैं। इतने वर्षों बाद भी इसकी खूबसूरती जस-की-तस बनी हुई है। 
 
मुमताज महल और शाहजहां की कब्र ताजमहल के निचले हिस्से में आमने-सामने बनी हुई है। आज भी आगरा शहर देशी-विदेशी सैलानियों के आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। विभाग की ओर से प्रतिवर्ष 'ताज महोत्सव' का आयोजन किया जाता है। खूबसूरत स्थापत्य कला में निर्मित होने की वजह यहां गर्मी हो या ठंड, हर मौसम में पर्यटकों की भीड़ देखी जा सकती है। 
ALSO READ: या तेजो महालय, जानिए इस रहस्य को...
>

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

देखिए मिथुन के बेटे मिमोह की शादी के फोटो

देखिए मिथुन के बेटे मिमोह की शादी के फोटो
तमाम विवादों के बीच मिथुन चक्रवर्ती के बेटे महाअक्षय उर्फ मिमोह 10 जुलाई को मदालसा के साथ ...

इस वजह से हुआ सोनाली बेंद्रे को हाई ग्रेड कैंसर, रिपोर्ट ...

इस वजह से हुआ सोनाली बेंद्रे को हाई ग्रेड कैंसर, रिपोर्ट में हुआ खुलासा
सोनाली बेंद्रे ने जब बताया कि वे हाई ग्रेड कैंसर की शिकार हैं तो जिसने भी सुना वह दंग रह ...

संजय दत्त ने अपनी बायोपिक 'संजू' से कितना कमाया?

संजय दत्त ने अपनी बायोपिक 'संजू' से कितना कमाया?
संजय दत्त पर आधारित फिल्म 'संजू' ने बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा रखी है और फिल्म से जुड़े लोगों ...

संजय दत्त के खिलाफ क्यों हैं नाना पाटेकर?

संजय दत्त के खिलाफ क्यों हैं नाना पाटेकर?
जहां संजू बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाए जा रही है, वहीं दूसरी ओर कुछ ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने ...

स्टाइलिश बिकिनी में सुहाना खान ने शेयर किया फोटो

स्टाइलिश बिकिनी में सुहाना खान ने शेयर किया फोटो
शाहरुख अपने परिवार के साथ यूरोप में छुट्टियां बीता रहे हैं। वे और गौरी खान लगातार फोटो ...

संजू का बॉक्स ऑफिस पर तीसरा सप्ताह

संजू का बॉक्स ऑफिस पर तीसरा सप्ताह
राजकुमार हिरानी द्वारा निर्देशित फिल्म 'संजू' बॉक्स ऑफिस पर तीन सप्ताह से छाई हुई है। ...

धड़क : फिल्म समीक्षा

धड़क : फिल्म समीक्षा
मराठी में बनी सुपरहिट फिल्म 'सैराट' का हिंदी रीमेक 'धड़क' नाम से बनाया गया है। जिन्होंने ...

सर्कस सीक्वेंस के साथ सलमान खान 22 जुलाई से शुरू करेंगे ...

सर्कस सीक्वेंस के साथ सलमान खान 22 जुलाई से शुरू करेंगे 'भारत' की शूटिंग
सलमान खान की अगली फिल्म 'भारत' एक पीरियड ड्रामा है जिसकी शूटिंग 22 जुलाई से सलमान खान ...

अक्षय कुमार की गोल्ड में एक-दो नहीं, 2000 एक्टर्स आएंगे नजर

अक्षय कुमार की गोल्ड में एक-दो नहीं, 2000 एक्टर्स आएंगे नजर
अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म 'गोल्ड' एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में भारत का पहला स्वर्ण ...

फन्ने खान की कहानी

फन्ने खान की कहानी
फन्ने खान एक मध्यमवर्गीय पुरुष फन्ने खान (अनिल कपूर) की कहानी है जिसने जवानी के दिनों में ...