तकनीक ने बनाई हैं सफर की मुश्किलें आसान, पढ़ें वर्ल्ड टूरिज्म डे पर विशेष फीचर

निवेदिता भारती|

इस साल दिवस की थीम है 'एंड द डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन' बुडापेस्ट में होगा आयोजन

वर्ल्ड टूरिज्म डे 2018 : टूरिज्म एंड डिजिटल ट्रांस्फॉर्मेशन

यात्रा, सफर, पर्यटन, ट्रेवलिंग, ट्रिप, टूर.... शब्द चाहे जो ले लीजिए लेकिन अनुभव के स्तर पर दिमाग में जो अहसास आते हैं वह है हरी-भरी वादियां, छलछल कलकल करती नदियां, झरझर झरते झरने, साफ खूला आकाश, ऊंची-ऊंची पहाड़ियां, पंछियों का कलरव, मुस्कुराते फूल... ताजातरीन खुशियां और रोमांच... जितना हम अपने दायरे में सीखते हैं उससे कहीं ज्यादा हम सफर के अनुभवों से सीखते हैं।

आप जो हमेशा अपने आसपास देखते हैं उससे कुछ बेहद अलग एक नई दुनिया का नजारा लेना है तो यकीनन सैर पर निकल जाएं। आपने पहले इस तरह की ट्रिप्स ली हैं तो सोने पे सुहागा, आपको टूरिज्म की महत्ता पल भर में समझ आ जाएंगी। अगर अब तक अपनी पसंदीदा जगह पर नहीं जा सके हैं तो यह जान लीजिए कि आपके लिए यह यात्रा एक थैरेपी की तरह काम करेगी।

अगर आपको लगता है कि आपको थैरेपी की जरूरत नहीं तो हम कहेंगे कि जैसे स्पा आपके शरीर को आराम और शांति देता है ठीक उसी तरह, किसी जगह की सैर आपके दिमाग को नई ताजगी, ऊर्जा और ऐसे अनूठे अनुभव देगी जो किसी और कार्य से संभव ही नहीं। आपको रोमांच, रहस्य, ताजगी, स्वाद, संस्कृ‍ति, परंपरा, मानवीय स्वभाव इन सबका मिलाजुला अनोखा अनुभव करना है बस एक यात्रा प्लान कर लीजिए। अनुभव ऐसा होगा कि आप ताउम्र याद रखेंगे। पर्यटन के इसी महत्व को देखते हुए हर वर्ष को विश्व पर्यटन दिवस मनाया जाता है। प्रति वर्ष उसके लिए थीम भी निर्धारित की जाती है। 1980 में सबसे पहले सांस्कृतिक विरासत, शांति और आपसी समझ के संरक्षण के लिए पर्यटन का योगदान थीम को प्राथमिकता दी गई थी। पिछले वर्ष यह थीम थीं 'सस्टेनेबल टूरिज्म ए टूल फॉर डेवलेपमेंट' उसी तरह इस साल की थीम है टूरिज्म एंड द डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन...

वर्ल्ड टूरिज्म डे 2018 : टूरिज्म एंड द डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन

इस वर्ष वर्ल्ड टूरिज्म डे की थीम है टूरिज्म एंड डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन। आखिर क्यों पर्यटन के क्षेत्र में डिजिटल माध्यमों के महत्व समझने के लिए एक पूरा दिन ही मुक़र्रर किया गया है?

इसकी खास वजहें हैं जो हर पर्यटक को पता हैं या पता होनी चाहिए। इस साल वर्ल्ड टूरिज्म डे पर तकनीक का पर्यटन में महत्व जानने के अलावा, इस क्षेत्र में नई खोज करने के साथ साथ इस क्षेत्र का भविष्य भी तैयार करने जैसे कार्य किए जाएंगे। तकनीक (अधिक डेटा संकलन के रूप में, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के रूप में और डिजिटल प्लेटफॉर्म के रूप में) कैसे इस क्षेत्र को नई ऊंचाइयां दे रहे हैं यह इस साल के वर्ल्ड टूरिज्म डे पर जाना जाएगा।

तकनीक ने यात्रा बनाई है आसान और सुरक्षित

तकनीक का इस क्षेत्र में इस्तेमाल संभावनाओं के नित नए दरवाजे खोल रहा है। लोग पहुंचने के पहले ही नई जगह के लिए तैयार हैं। उन्हें मौसम से लेकर संस्कृति के बारे में हर छोटी-बड़ी जानकारी दुनिया के किसी भी कोने से किसी भी कोने के लिए मिल जाती है। तकनीक ने यात्राएं सुरक्षित और आराम से भरी बनाई हैं। तकनीक के इस्तेमाल से धोखा होने और किसी अपराध का शिकार होने की संभावना भी कम हुई है।


किसी जगह घूमने जाने का ख्याल आते ही, पर्यटक जगह से लेकर ठहरने, ट्रांसपोर्ट और भोजन की उपलब्धता तकनीक के माध्यम से बहुत पहले से जान सकते हैं और उसके अनुरूप ही अपनी योजना बना सकते हैं। अपने लिए इंतजाम पहले से करके निश्चिंत होकर अपनी यात्रा का मजा ले सकते हैं।

अगले पेज पर कैसे तकनीक ने बनाया यात्रा को बेहद आसान और सुरक्षित...

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :