लॉर्ड माउंटबेटन की आखिरी चिट्ठी

WD|

FILE
स्वतंत्र भारत के पहले गवर्नर जनरल लॉर्ड माउंटबेटन ने भारत छोड़ने से पहले नेहरूजी को एक चिट्ठी लिखी थी। वह चिट्ठी लेडी एडविना और नेहरू के संबंधों में नहीं थी, बल्कि भारत और पाकिस्तान के संबंधों को लेकर यह अंतिम चिट्ठी थी।
भारत और पाकिस्तान की आजादी के साथ ही कश्मीर का मामला उलझा हुआ था, जो कि काफी प्रयासों के बाद भी खत्म नहीं हुआ था।

लॉर्ड माउंटबेटन भारत छोड़ने से पहले इस मसले को खत्म करना चाहते थे इसी सिलसिले में उन्होंने चिट्ठी के माध्यम से नेहरू को लियाकत अली और मोहम्मद अली जिन्ना के साथ कश्मीर मसलों को आपसी तालमेल से खत्म करने का सुझाव दिया।

क्या लिखा है उस चिट्ठी में माउंटबेटन ने? अगले पन्ने पर...


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :