Widgets Magazine

मैं फागुनिया रंग में रंग गई!

WD|
निशा माथुर 
पियाजी मोरे खेलत छुप-छुप के,
सैंया जी मोरे फाग खेलत छुप-छुप के,
 
मैं फागुनिया रंग में रंग गई,
शरमाऊं घूंघट से...
पियाजी मोरे फाग खेलत छुप-छुप के
 

होलीया में उड़े गुलाल अबीरा
टिमकी ढोलक, झांझ मजीरा
चंग की थाप जियरा धड़के!
पियाजी मोरे फाग खेलत छुप-छुप के,
 
आंगन चहकी सोन चिरैया
मैं राधा बन हुई बावरि‍या
नैनन प्रीत तोरी छलके
पियाजी मोरे फाग खेलत छुप-छुप के,
 
ज्यूं डाली बोले कोयलिया
गुनगुन करता भंवरा छलिया
बहियां पकड़ करे जोरे
पियाजी मोरे फाग, खेलत छुप-छुप के,
 
जा देखे तोरे रंग कन्हैया
रंग दी नी मोरी धानी चुनरि‍या
सूरत अबीरीया मलके
पियाजी मोरे फाग खेलत छुप-छुप के,
 
मैं फागुनिया रंग में रंग गई,
शरमाऊं घूंघट से
पियाजी मोरे फाग खेलत छुप-छुप के
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine