हिन्दी कविता : पाकिस्तान उदास है...



उदास है,
बात कुछ खास है।
कुलभूषण की सजा रुकी,
बिंदास है।

आज हमें मिला,
जिंदगी उजास है।

जल्द घर को वह लौटेगा,
परिवार को आस है।

तिलमिलाया हुआ,
कर रहा बकवास है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :