कनकने राखी सुरेन्द्र की 'तुम्हारी-मेरी बातें' कविता संग्रह का लोकार्पण


नई दिल्ली। विश्व पुस्तक मेले नई दिल्ली में 11 को हॉल नंबर 12 में शाम 4.15 से 5.45 लेखक मंच पर का पहला 'तुम्हारी-मेरी बातें' का लोकार्पण किया गया। ये कविता संग्रह एपीएन पब्लिकेशंस, दिल्ली द्वारा प्रकाशित किया गया है।
डॉ. लालित्य ललित, संपादक, राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के अनुसार राखी की कविताओं में आत्मीयता के सरोकार बेहद निर्मल भाव से व्यक्त हुए हैं। उनकी जिजीविषा बेहद प्रासंगिक है। यही उत्सुकता उन्हें भीड़ से अलग खड़ा करती है।

प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता मुकेश तिवारी ने राखी की कविताओं के बारे में कहा है कि युवा पीढ़ी की कवयित्री कनकने राखी सुरेन्द्र की कविताएं प्रेम-संबंधों में मिलन और विरह की कोमलता, रूहानियत एवं मार्मिकता का बोध कराती हैं। राखी ये उम्मीद जगाती हैं कि वे भविष्य में लेखन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण स्थान हासिल करेंगी।
सुप्रसिद्ध पार्श्वगायिका मधुश्री का मानना है कि राखी कविताओं के माध्यम से प्रेम को जिस प्रकार परिभाषित कर रही हैं, वह वाकई प्रशंसनीय है। बनावटी प्रेम के इस दौर में इनकी रचनाओं में ईमानदारी की झलक साफ देखने को मिलती है। इनकी कविताओं में प्रेमिका के विरह के क्षण आपके अंतरमन के तारों को छूते हैं और एक अनूठा संगीत प्रस्तुत करते हैं। उम्मीद है कि साहित्य जगत इन्हें खुले दिल से स्वीकार करेगा।
वर्तमान में एक मल्टीनेशनल कंपनी के लिए विश्वस्तर पर कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन संभाल रहीं कनकने राखी सुरेन्द्र के लेखन में स्वाभाविक अभिव्यक्ति, सरलता, बिम्बों एवं प्रतिबिम्बों के साथ-साथ विषयों की गहराई, प्रेम की अनूठी परिकल्पना पाई जाती है। आपकी कविताएं देश की विभिन्न साहित्यिक पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रहती हैं।

सन् 2016 में हिन्दी पखवाड़े के अवसर पर इंदौर में मालवा रंगमंच समिति, मध्यप्रदेश द्वारा आपको 'हिन्दी सेवा सम्मान' से अलंकृत किया जा चुका है। पत्रकार के तौर पर आप कई राष्ट्रीय समाचार-पत्रों और पत्रिकाओं, जिनमें ग्लोबल मूवीज एवं फिल्म एंड टीवी ट्रेड प्रीव्यू प्रमुख हैं, में उपसंपादक के तौर पर अपनी सेवाएं प्रदान कर चुकी हैं।


और भी पढ़ें :