13 अगस्त : विश्व लेफ्ट हैण्डर्स डे


आमतौर पर बाएं हाथ से काम करने वाले बच्चे को एबनॉर्मल माना जाता है। किसी राइटी माता-पिता का बच्चा लेफ्टी हो तो वे इसे आसानी से स्वीकार नहीं कर पाते और अपने बच्चे को जानबूझ कर दाहिने हाथ से काम करने पर मजबूर करते हैं। जबकि बाएं हाथों का अधिक उपयोग करने के पीछे वैज्ञानिक कारण हैं। 
 
ये कोई अवगुण नहीं बल्कि सामान्य-सी बात है। यही कारण है कि को विश्व लेफ्ट हैण्डर्स डे के रूप में चिह्नित किया गया है।
 
तथ्य बताते हैं कि विश्व की जनसंख्या के 7 प्रतिशत लोग लेफ्टी हैं। बाएं हाथ से काम करना एक ओर जहां इन्हें कई बातों में विशिष्ट बनाता है, तो वहीं दूसरी ओर लेफ्टी होने से कई बार परेशानियों से भी रू-ब-रू होना पड़ता है। सारी दुनिया की तरह शहर में भी कई लेफ्ट हैण्डर्स हैं जो आज एक-दूसरे को लेफ्ट हैण्डर्स डे की बधाइयां दे रहें हैं। 
 
दुनिया में दाहिने हाथों से काम करने वाले बहुसंख्य हैं। यही कारण है कि रोजमर्रा की जिंदगी की चीजें दाहिने हाथ से काम लेने वालों के मुताबिक बनाई जाती हैं। बावजूद इसके बाएं हाथों से काम करने वाले अपनी सहूलियतें तलाश ही लेते हैं। 
 
दुनिया में कई ख्यातिलब्ध हस्तियां जैसे- क्वीन विक्टोरिया, नेपोलियन बोर्नापार्ट, एलेक्जेंडर द ग्रेट, लियोनार्दो द विंची, पाबलो पिकासो, आईसेक न्यूटन, अलबर्ट आइंस्टीन, बिल क्लिंटन, जॉर्ज बुश, बराक ओबामा, चार्ली चैपलिन, अमिताभ बच्चन, टॉम क्रूज, जूलिया रॉबर्ट, सौरव गांगुली के साथ साहित्य, कला, राजनीति, खेल और विज्ञान से संबंधित और भी कई लोग हैं, जो अपनी पर्सनेलिटी और कार्यों के लिए तो फेमस हैं ही, पर इन सभी में एक और विशेषता है कि ये ख्याति प्राप्त लोग 'लेफ्टी' ही हैं। 
 
 
कब शुरू हुआ लेफ्ट हैण्डर्स डे
सन्‌ 1976 में लेफ्ट हैण्डर्स को उनकी विशेषता के लिए जागृत करने और एकत्रित करने के उद्देश्य से लेफ्ट हैण्डर्स डे की शुरुआत लेफ्ट हैण्डर्स क्लब द्वारा की गई। इसके बाद और भी कई क्लब और एसोसिएशन का गठन हुआ जो लगातार लेफ्टीज के लिए कार्य कर रहे हैं। 
 
कई प्रतिभाओं के धनी : लेफ्ट हैण्डर्स में कुदरती रूप से ढेर सारी क्वालिटी होती हैं। लेफ्ट हैण्डर्स पर कई शोध हो चुके हैं। इन रिसर्च से कई रोचक तथ्य सामने आए हैं, जो लेफ्टीज की विशेषता को और भी बढ़ा देते हैं जैसे-
 
- लेफ्टीज अपनी कल्पना शक्ति का उपयोग संगीत और कला के क्षेत्र में अधिक करते हैं। 
 
- ये बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं। 
 
- किसी बात की तह तक जाने में विश्वास करते हैं और रचनात्मक विचारों वाले होते हैं।
 
- इनकी उपलब्धियां ऊंची होती हैं। 
 
- स्पोर्ट्स में इनकी दक्षता होती है। 
 
- लेफ्टीस अच्छे फाइटर्स होते हैं। 
 
- पढ़ाई में तेज होते हैं।
 
- जुड़वा बच्चों में से किसी एक के लेफ्टी होने की संभावना अधिक होती है। 
 
- कार्य करने के लिए सीधे हाथ का इस्तेमाल अच्छे से कर पाते हैं। 
 
- लेफ्टीज की राइटिंग बहुत अच्छी होती है।
आगे पढ़ें लेफ्टीस को लेकर प्रचलित भ्रांतियां... 
 
प्रचलित हैं कई भ्रांतियां जैसे -
 
- लेफ्टी बच्चों को अल्फाबेट्स सीखने में परेशानी होती है।
 
- लेफ्टी होना अशुभ होता है।
 
- लेफ्टीज की आयु कम होती है। इस बात पर कई शोध चल रहे हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

लिपबाम के फायदे जानते हैं और इसे लगाते हैं, तो इसके नुकसान ...

लिपबाम के फायदे जानते हैं और इसे लगाते हैं, तो इसके नुकसान भी जरूर जान लें
लिप बाम सौंदर्य प्रसाधन में आज एक ऐसा प्रोडक्ट बन चुका है, जिसके बिना किसी लड़की व महिला ...

पति यदि दिखाए थोड़ी सी समझदारी तो पत्नी भूल जाएगी नाराज होना

पति यदि दिखाए थोड़ी सी समझदारी तो पत्नी भूल जाएगी नाराज होना
पति-पत्नी के बीच घर के दैनिक कार्य को लेकर, नोकझोंक का सामना रोजाना होता हैं। पति का ...

क्या आपको भी होती है एसिडिटी, जानिए प्रमुख कारण और बचाव

क्या आपको भी होती है एसिडिटी, जानिए प्रमुख कारण और बचाव
मिर्च-मसाले वाले पदार्थ अधिक सेवन करने से एसिडिटी होती है। इसके अतिरिक्त कई कारण हैं ...

फलाहार का विशेष व्यंजन है चटपटा साबूदाना बड़ा

फलाहार का विशेष व्यंजन है चटपटा साबूदाना बड़ा
सबसे पहले साबूदाने को 2-3 बार धोकर पानी में 1-2 घंटे के लिए भिगो कर रख दें।

बालों को कलर करते हैं, तो पहले यह सही तरीका जरूर जान लें

बालों को कलर करते हैं, तो पहले यह सही तरीका जरूर जान लें
हर बार आप सैलून में ही जाकर अपने बालों को कलर करवाएं, यह संभव नहीं है। बेशक कई लोग हमेशा ...

दूषित सोच से पीड़ित एक प्रसिद्ध भारतीय अर्थशास्त्री

दूषित सोच से पीड़ित एक प्रसिद्ध भारतीय अर्थशास्त्री
पिछले सप्ताह विश्व प्रसिद्ध अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों के ...

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके ...

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके बच्चे को बिगड़ने से कोई नहीं रोक सकता!
पैरेंट्स की कुछ ऐसी आदतें होती हैं, जो वे बच्चों को सुधारने, कुछ सिखाने-पढ़ाने और नियंत्रण ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो यह एस्ट्रो टिप्स आपके लिए है
क्या आप भी संकोची हैं, अगर हां तो यह आलेख आपके लिए है...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों ...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों को नजरअंदाज करें, वरना हो सकती है बड़ी परेशानी
ये बीमारी भी ऐसे ही सामने नहीं आती। इसके भी लक्षण हैं जो आप और हम जैसे लोग अनदेखा करते ...

श्री गुरु पूर्णिमा : कैसे मनाएं घर में पर्व जब कोई गुरु ...

श्री गुरु पूर्णिमा : कैसे मनाएं घर में पर्व जब कोई गुरु नहीं हो...ग्रहण के कारण इस समय कर लें पूजन
वे लोग जिन्हें गुरु उपलब्ध नहीं है और साधना करना चाहते हैं उनका प्रतिशत समाज में अधिक है। ...