पुस्तक समीक्षा : उड़ता परिंदा


जफर इमाम
कवि की कल्पनाओं का कोई अंत नहीं होता है। कहा भी गया है "जहां ना पहुंचे रवि, वहां पहुंचे कवि"! उड़ता परिंदा भी कवि की कल्पना मात्र ही है। उड़ता परिंदा के माध्यम से कवि ने आज इस युग के प्रेम और वियोग जैसी भावनाओं को अपने ही शब्दों में एक परिंदा पक्षी के माध्यम से प्रकट किया है। जिस प्रकार एक पक्षी रात और दिन एक वृक्ष की डाली के सहारे ही अपना जीवन व्यतीत करता है और समय के बीतते पलो में ही उस वृक्ष की डाली से एक प्रेम बंध सा जाता है।

वक्त का तो काम ही परिवर्तित होना है। समय बीतता है और एक दिन वह डाली सूखकर टूट जाती है और जमीन पर गिर जाती है। वह परिंदा, जिसको उस डाली से प्रेम हो चुका था, अब वह अपने दुख को कैसे प्रकट करे? वह परिंदा उसी दुख में काफी वक्त गुजार देता है और फिर एक दिन वह परिंदा उड़ चलता है किसी दुसरे वृक्ष की ओर। फिर अचानक एक वृक्ष की डाली में अपना बसेरा डाल देता है..।
यही स्थिति आज के युवक युवतियों की है, जो वक्त आने पर अपना बसेरा खुद ही परिवर्तित कर लेते हैं। उड़ता परिंदा वह स्वच्छंद परिंदा है, जो आज इस डाल पर तो कल उस डाल अपना बसेरा बना ही लेता है। कवि ने कहा भी है "मैं तो उड़ता परिंदा हूं, जहां मिलेगी शाख वही होगा मेरा बसेरा..!!"

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

कविता : भारत के वीर सपूत

कविता : भारत के वीर सपूत
तेईस मार्च को तीन वीर, भारतमाता की गोद चढ़े। स्वतंत्रता की बलवेदी पर,

सुनो नन्ही बच्चियों, हम अपराधी हैं तुम्हारे

सुनो नन्ही बच्चियों, हम अपराधी हैं तुम्हारे
माता-पिता की सघन छांव से अधिक सुरक्षित जगह क्या होगी.. ? सुरक्षा की उस कड़ी पहरेदारी में ...

कर्मकांड करवाने वाले आचार्य व पुरोहित कैसे हो, आप भी ...

कर्मकांड करवाने वाले आचार्य व पुरोहित कैसे हो, आप भी जानिए...
कर्मकांड हमारी सनातन संस्कृति का अभिन्न अंग है। बिना पूजा-पाठ व कर्मकांड के कोई भी हिन्दू ...

आम के यह 'खास' फायदे शर्तिया नहीं पता होंगे आपको

आम के यह 'खास' फायदे शर्तिया नहीं पता होंगे आपको
रसीले पके आम अत्यंत स्वादिष्ट लगते हैं। आइए जानते हैं इसके 5 ऐसे फायदे जो आपको अचरज में ...

मन को लुभाएगी लाजवाब चटपटी कैरी की चटनी...

मन को लुभाएगी लाजवाब चटपटी कैरी की चटनी...
एक कड़ाही में तेल गरम कर चना दाल, मैथी और जीरा डालकर भून लें। लाल मिर्च, मीठा नीम, हींग ...

सिर्फ और सिर्फ एक हनुमान मंत्र, रखेगा आपको पूरे साल

सिर्फ और सिर्फ एक हनुमान मंत्र, रखेगा आपको पूरे साल सुरक्षित
इस विशेष हनुमान मंत्र का स्मरण जन्मदिन के दिन करने पर पूरे साल की सुरक्षा हासिल होती है ...

जानकी जयंती पर पढ़ें मां सीता की अचंभित कर देने वाली यह ...

जानकी जयंती पर पढ़ें मां सीता की अचंभित कर देने वाली यह कथा...
भगवान श्रीराम राजसभा में विराज रहे थे उसी समय विभीषण वहां पहुंचे। वे बहुत भयभीत और हड़बड़ी ...

लघुकथा : पत्रकार ?

लघुकथा : पत्रकार ?
एक राजनेता की किसी समारोह के दौरान चप्पलें गुम हो जाने की वजह से समारोह-स्थल से अपनी कार ...

क्या मोबाइल का नंबर बदल कर चमका सकते हैं किस्मत के तारे...

क्या मोबाइल का नंबर बदल कर चमका सकते हैं किस्मत के तारे...
अंकशास्त्र के अनुसार अगर मोबाइल नंबर में सबसे अधिक बार अंक 8 का होना शुभ नहीं होता है। ...

याद रखें यह 5 वास्तु मंत्र, हर संकट का होगा अंत

याद रखें यह 5 वास्तु मंत्र, हर संकट का होगा अंत
निवास, कारखाना, व्यावसायिक परिसर अथवा दुकान के ईशान कोण में उस परिसर का कचरा अथवा जूठन ...