Widgets Magazine

यह 10 बातें जरूरी हैं सदाबहार ब्यूटी के लिए...


इंसान की लंबे समय तक सुंदर बने रहने की चाहत बहुत पुरानी है। प्राचीन संस्कृतियों में महिलाओं द्वारा रूप रंग संवारने के अनेक प्रमाण मिलते हैं। मिस्र की रानी क्लियोपेट्रा का दूध से भरे टब में स्नान करने के किस्से पश्चिमी इतिहास का लोकप्रिय हिस्सा रहे हैं। तमाम संसाधनों के प्रयोग के बावजूद बहुत कम लोग ऐसे देखे गए हैं जिन पर उम्र का असर बहुत धीरे-धीरे होता है। वे अधिक समय तक युवा एवं चुस्त-दुरुस्त दिखाई देते हैं।

ऊपरी रख रखाव का थोड़ा बहुत असर चेहरे पर दिखाई दे सकता है लेकिन आंतरिक स्वास्थ से जो चमक चेहरे पर आती है उसका कोई सानी नहीं है। अधिकांश महिलाएं सौंदर्य की रक्षा के लिए बहुत अधिक सजग नहीं रहती हैं। वे अक्सर ऐसी गलतियां कर बैठती हैं जो सुंदरता के दुश्मन साबित होती हैं। यहां जानिए ऐसी ही कुछ गलतियां जिन्हें आसानी से टाला जा सकता था।

1. धूप लगना-
हमारे जैसे देश में जहां कुछ समय को छोड़कर पूरे समय
सूर्य का प्रकाश मौजूद रहता है वहां सन एक्सपोजर से बचना लगभग नामुमकिन सा हो जाता है। लंबे समय तक धूप में बाहर रहने से त्वचा पर स्थाई दुष्प्रभाव पड़ता है। झाइयां और झुर्रियां धूप स्नान की ही देन है। यहां बाहर निकलने से पहले शक्तिशाली सनस्क्रीन जरूर लगा लें। इस सुरक्षा कवच की अवधि चार घंटे है। इसके बाद फिर से सनस्क्रीन की लेअर लगा लेना चाहिए। केवल बाहर रहने के दौरान ही नहीं बल्कि घर में रहते हुए भी सनस्क्रीन जरूर लगाएं। यह विचार न करें कि बारिश के मौसम में जब सूर्य बादलों की ओट में छिपा रहता है तब सनस्क्रीन लगाने की क्या जरूर है। आंखों के काले घेरे से बचाने के लिए ओवर साइज सनग्लासेस और बड़े आकार का हैट जरूर वापरें। छतरी लगाकर निकलने में शर्म न करें क्योंकि इससे आपके चेहरे की नाजुक त्वचा क्षतिग्रस्त होने से बच सकती है।

2. आपने इस टिप को अपने जीवन में हजारों बार सुना होगा कि मेकअप उतार कर ही सोएं लेकिन अक्सर देखा गया है कि शादी-ब्याह या किसी लेट नाइट पार्टी से लौटने के बाद आप इतनी थक जाती हैं कि मेकअप उतारने में आलस कर जाती हैं। आप यह नहीं जानती हैं कि यह एक गलती आपकी त्वचा को कितनी बड़ी सजा दे सकती है। इसलिए कोई अच्छा सा मेकअप रिमूवर बाथरूम में हमेशा रखें और इस्तेमाल भी करें। मेकअप उताने में 5 मिनट से अधिक समय नहीं लगता है।

3. किसी ने कहा था इसलिए घर में आने वाले हर फल के गूदे या छिल्के को चेहरे पर रगड़ने की गलती न करें। जिस घरेलू इलाज को पहले कभी आजमाया न हो उसे पहले अंडरआर्म या जांघ के निचले हिस्से में लगाकर उसका असर देख लें। हर हर्बल या ऑर्गेनिक केमिकल फ्री होता है ऐसा नहीं है।

4. आप चलते फिरते मेकअप बॉक्स बनने की गलती न करें। चेहरे पर टन भर कन्सीलर, फाउंडेशन, पावडर या ब्लशर न पोतें। हर वक्त वॉशरूम में जाकर मेकअप की परत लगाने की जरूरत नहीं होती। किसी एक्सपर्ट से अच्छा और कम मेकअप में सुंदर दिखने की कला सीखें। कम से कम मेकअप में सुंदरतम दिखना ही मेकअप की कला है। इसमें आपके व्यक्तित्व के सशक्त पहलू उभरकर सामने आने चाहिए। दोष और कमियां कम से कम मेकअप में छिपाने की कोशिश करें। ओवर मेकअप और अंडर मेकअप के बीच का कोई रास्ता निकालें।

5.
सूखी त्वचा के प्रदर्शन से बड़ी कोई गलती नहीं हो सकती क्योंकि इस समस्या का हल आसानी से निकाला जा सकता है। किसी भी महिला का सबसे बड़ा दोस्त केवल मॉइश्चराईजर ही हो सकता है। इसलिए इसका साथ कभी ना छोड़ें। इसे पर्स में स्थाई तौर पर जगह दें। नहाने के तुरंत बाद सूखे टॉवेल बहुत रगड़ कर न पोछें। इससे त्वचा के नीचे सुरक्षित पानी भी निकल जाता है। त्वचा की नमी बरकरार रखने के लिए नहाने के बाद पूरे शरीर पर भरपूर मॉइश्चराइजर या बॉडी लोशन लगाएं।

6. मृत त्वचा निकालने की प्रक्रिया पर बहुत अनुभव के बाद महारत हासिल होती है। एक्सफोलिएट यानी मृत त्वचा निकालने की प्रक्रिया बार-बार न दोहराएं। क्योंकि ओवर एक्सफोलिएशन से त्वचा रूखी और क्षतिग्रस्त हो जाती है। त्वचा का सुरक्षा कवच हट जाता है और वह इंफेक्शन के लिए एक्सपोज हो जाती है।

7. किसी की भी सलाह पर चेहरे की क्रीम न लें, क्योंकि इससे फायदे के स्थान पर नुकसान होने की अधिक आशंका है। जो क्रीम आपकी बहन भाभी या सहेली को सूट हो रही हो वही आपको भी फायदा पहुंचाए यह जरूरी नहीं है। त्वचारोग विशेषज्ञ की सलाह से ही कोई क्रीम चेहरे पर लगाएं। जरूरत न होने पर भी यदि आप अनजाने में कोई स्टेरॉयड वाली क्रीम इस्तेमाल कर लेंगी तो गंभीर क्षति भी हो सकती है।

8. शैंपू तथा कंडीशनर के प्रयोग की कला जरूर सीखें। शैंपू बालों से लेकर जड़ों तक की त्वचा की सफाई के लिए बने होते हैं। यह बालों की धूल और गंदगी को निकाल बाहर करते हैं। शैंपू लगाकर थोड़े समय रुकने की सलाह दी जाती है। शैंपू को कुनकुने पानी से ही प्रयोग करना चाहिए। गर्म पानी से हैअर फॉलिकल यानी बालों की जड़ें अच्छे से खुल जाते हैं जिससे सफाई अच्छी होती है। कंडीशनर का मिजाज इसके विपरीत है। कंडीशनर हमेशा बालों के मध्य से लेकर अंतिम छोर तक लगाने की सलाह दी जाती है। गर्म पानी से खुले हुए हैअर फॉलिकल में कंडीशनर की मालिश
नहीं करना चाहिए। इसीलिए शैंपू से धोने के बाद ठंडे पानी का प्रयोग करना चाहिए। इससे खुले हुए हैअर फॉलिकल बंद हो जाते हैं।

9. हेअर कर्लिंग, आयरनिंग तथा स्ट्रेट करने से पहले हेअर प्रोटेक्टर का प्रयोग जरूर करें। बहुत अधिक गर्म हवा से बालों की जड़ों को स्थाई क्षति पहुंचती है। गर्म हवा वाले हेअर ड्रायरों का प्रयोग न करें। मेकअप की पुरानी सामग्री को मोहत्याग कर डस्टबीन में फेंके। हेअर ब्रश, कंघे या मेकअप का ब्रश नियमित रूप से साफ करे। उन्हें संक्रमण रहित करें और फिर प्रयोग करें। दूसरे का कंघा कभी सिर में डालें।
10. भरपूर नींद लें। तनाव और चिंताओं को जीवन में स्थान न दें। पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहें। जीवनशैली में इतने परिवर्तन कर लें। इनसे सौंदर्य स्थाई तौर पर आपके साथ ही रहेगा।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :