कम उम्र में बेहतर नौकरी

ND|
रेलवे में मिलने वाली हर तरह की सुविधाएँ व जॉब सिक्योरिटी की वजह से युवा इस ओर आकर्षित होते हैं। यदि आपका सपना रेलवे में अधिकारी बनने का है, तो स्पेशल क्लास रेलवे अप्रेंटिस एग्जाम की परीक्षा पास करके अपने सपने को पंख लगा सकते हैं। परीक्षा की तिथि 19 दिसंबर है।

परीक्षा का नाम : स्पेशल क्लास अप्रेंटिसेज परीक्षा 2010
योग्यता : बारहवीं प्रथम या द्वितीय श्रेणी से उत्तीर्ण
परीक्षा तिथि : 19 दिसंबर

शैक्षिक योग्यता और उम्र : इसके लिए शैक्षिक योग्यता किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पीसीएम के साथ प्रथम या द्वितीय श्रेणी से पास होना जरूरी है। अभ्यर्थी की आयु न्यूनतम 17 वर्ष और अधिकतम 21 वर्ष से अधिक न हो।
परीक्षा का स्वरूप : दो चरणों में एग्जामिनेशन होते हैं। प्रथम चरण में लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। इसके अंतर्गत जनरल एबिलिटी, फिजिक्स और मैथेमेटिक्स के पेपर होते हैं। सभी पेपरों के लिए अलग-अलग दो-दो घंटे का समय एवं कुल 600 अंक निर्धारित हैं। इसमें पास होने के बाद पर्सनालटी टेस्ट होगा। इसके लिए 200 अंक निर्धारित हैं।
सिलेबस स्कैन : जनरल एबिलिटी में इंग्लिश, जनरल नॉलेज व साइकोलॉजिकल प्रश्न पूछे जाएँगे। सेकंड पेपर में फिजिक्स एंड केमिस्ट्री के प्रश्न होंगे। पेपर तीन में मैथ्स होगा। सभी प्रश्नों का स्तर बारहवीं के लेवल का होगा। जनरल नॉलेज के अंतर्गत मैन एंड इन्वायरमेंट, हिस्ट्री, पॉलिटिक्स एंड सोसाइटी ऑफ इंडिया आदि से प्रश्न पूछे जाएँगे।
अंग्रेजी प्रश्न से उम्मीदवार की समझ और भाषा पर अधिकार का पता लगाया जाएगा। साइकोलॉजिकल टेस्ट से बुनियादी जानकारी और यांत्रिक अभिरुचि का मूल्यांकन किया जाएगा।

इंटरव्यू में एंट्री : यह परीक्षा की अंतिम सीढी होती है। इसमें बहुत कम लोगों की एंट्री हो पाती है। इसमें जनरल इंट्रेस्ट से रिलेटेड प्रश्न पूछे जा सकते हैं। इसके अतिरिक्त लीडरशिप क्वालिटी, इनीशिएटिव एंड इंटेलैक्चुऍल कुरियसिटी, टैक्ट एंड अदर सोशल क्वालीटिज, मेंटल एंड फिजिकल एनर्जी, पॉवर ऑफ प्रैक्टिकल एप्लिकेशन आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाएँगे। विशेषज्ञों के अनुसार आप साक्षात्कार टेंशन फ्री होकर दें और कम बोलने का प्रयास करें।
इनका ध्‍यान रखें :
अक्सर देखा जाता है कि साइंस के अभ्यर्थी का अपने विषय पर तो कमांड रहता है, लेकिन अंग्रेजी और जनरल एबिलिटी टेस्ट में वे पिछड़ जाते हैं। यदि आप परीक्षा पास करने के लिए गंभीर हैं, तो एक विशेष रणनीति के तहत सबसे पहले अंग्रेजी को दुरुस्त करने की कोशिश करें। इसके लिए अंग्रेजी ग्रामर पढ़ें। हिस्ट्री के अंतर्गत प्राचीन इतिहास और आधुनिक भारत पर विशेष ध्यान दें।
स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास की बेहतर ढंग से तैयार करें। भारतीय संविधान के अंतर्गत भारतीय संसद, कार्यपालिका, न्यायपालिका, महत्वपूर्ण अनुच्छेद, राजनीतिक पार्टी आदि को पढ़ें। जहां आप अधिक कमजोर हैं, सबसे पहले उन्हें दुरुस्त करने की कोशिश करें। इसके लिए किसी कोचिंग संस्थान की जरूरत नहीं है।

अंग्रेजी में मनोरमा ईयर बुक पढ़ते हैं, तो आप इस क्षेत्र में बेहतर प्रिपरेशन कर सकते हैं। इसके साथ ही बारहवीं तक की एनसीईआरटी की किताबें अवश्य पढ़ें। इसमें निगेटिव मार्किंग का भी प्रावधान है, इसलिए उन्हीं प्रश्नों के उत्तर दें, जो आप जानते हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :