ऐसे बनाते हैं सफल लोग 24 घंटों का दिन 48 घंटे बराबर

निवेदिता भारती|
आपको दिन में 24 से कुछ कम घंटें मिलते हैं? आप कहेंगे पागल तो नहीं लेकिन ये सवाल पागलपन की निशानी नहीं बल्कि होने का रास्ता है। इसका जवाब खोज लिया तो हर दिन लगेगा आपको आज कुछ बेहद खास किया है।

सवाल यह है कि ऐसा होगा कैसे। कैसे हर दिन को कई गुना बढ़ा लिया जाए कि कोई काम अधूरा न रहे। आज और बिल्कुल अभी आपको मिलेगा इसका जवाब।

हर किसी को मिलते हैं 24 घंटे जिसमें कामों की एक लंबी लिस्ट होती है। सफल लोगों के हाथ एक ऐसा जादू है जो उनके इन कामों को हर दिन ही खत्म कर उन्हें अगले दिन नए कामों के लिए तैयार कर देता है।

1. अगली सुबह के कामों की लिस्ट और जागने का समय एक रात पहले ही तय कर लें

ऐसी कितनी सुबह होती हैं जब आपकी नींद खुल जाती है पर अलमारी से कपड़े, जिम बैग और शूज़ निकालने के नाम पर आपकी एक्ससाइज़ शहीद हो जाती है। जब जागते हैं देर हो चुकी है और आपने एक्ससाइज़ आज भी नहीं की। कहने का मतलब है कि आप अपने उठने से लेकर अपने कामों की लिस्ट एक रात पहले तय कर लें। रात में ही जरूरी तैयारी कर लें और सुबह नियत समय पर उठकर उस काम को पूरा कर लें। ऐसा करने से आपको शाम के समय उस काम के लिए अलग से वक्त निकालने की जरूरत नहीं। साथ ही यह काम तो कम से कम आपकी आज की लिस्ट से निकल चुका है।

2. वे कई अलार्म लगाते हैं

जब आप अपनी दिनचर्या में बड़े बदलाव की सोच रहे हैं ये काम आसान नहीं। इस वजह से आपको कई काम करना पडेंगे कि आपकी योजना असफल न हो जाए। एक अलार्म पर भरोसा नहीं करते। थोड़े थोड़े समय के इंटरवल में ये लोग कई अलार्म लगाते हैं। इतने अलार्म के बाद आपको नींद के आलम में भी ख्याल आ ही जाता है कि आपको उठना है और एक काम खत्म करके ही दम लेना है।

3. जितनी जल्दी हो सके अपने दिन की शुरूआत कर लें

ये एक तरह से कहा जाए तो सक्सेस मंत्र है। हर सफल लोगों में ये आदत शर्तिया मिलेगी। ये अपने दिन की शुरूआत जल्दी करते हैं। 4 बजे या 5 बजे उठना आम बात है। फायदा यह है कि आपको दिन बहुत बड़ा लगेगा। आपको लगेगा आपके पास हर काम के लिए वक्त है। मेडिटेशन, एक्ससाइज, नाश्ता, शॉवर से लेकर हर किसी काम के लिए आपके पास समय है। आप बिना दौड़े भागे ही अपने काम निपटा रहे हैं। आप अपनी लिस्ट के हर काम को खत्म कर रहे हैं। कुछ भी शाम के लिए नहीं छोड़ना पड़ रहा है।

4. सुबह काम के वक्त अपनी पसंद का संगीत सुनिए


संगीत या म्यूज़िक एक एनर्जी है। आप सुबह काम को करते समय म्यूज़िक सुने काम की गुणवत्ता बढ़ जाएगी। एक्ससाइज हो या नाश्ता तैयार करते समय, संगीत आपको उर्जा देता है। काम करने में बोरियत नहीं लगती और अगले दिन भी उसी काम को करने की इच्छा हो जाती है।

5. वे अपने हर काम को ऐसा समझकर करते हैं जैसे उन्हें इसके लिए पैसा मिलेगा

सफल लोग कहते हैं हम काम को 100 % देते हैं। क्या है इसका मतलब? आप अपने हर काम को ऐसा समझकर करें जैसे आपको पैसा मिल रहा है। आपको काम की गुणवत्ता के आधार पर ही पैसा दिया जाएगा। आप देखेंगे कि हर काम को 100 % देना आपको भी आ गया है। ऐसा करने से काम के हो जाने पर आपकी खुशी और बाद में उसका परिणाम ऐसा होगा कि आपको भरोसा नहीं होगा।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :