रुकती कैसे, हमारे सबके कपड़े फाड़ दिए थे...

सीनियर सिटीजंस के नाम पर नगमा की जाटों से गुपचुप बात

PR

मालूम यह पड़ा कि सीनियर सिटीज़न के नाम पर यह मीटिंग जाटों को गोलबंद करने की है और भूपालसिंह और कुछ नहीं जाट हैं। जाट वोट मेरठ में एक लाख हैं। कुछ देर की मीटिंग में यह देखा कि एक साहब शिकायत कर रहे हैं - ''उस दिन मैंने हाथ हिलाया, आपको कितना रोका, आप रुकी ही नहीं।''

''रुकती कैसे, हमारे सब सबके कपड़े फाड़ दिये थे लोगों ने, फिर आपके पास भी बहुत भीड़ थी, न जाने क्या होता।'' नग़मा ने जो जवाब दिया, उसे सुनकर पास बैठी महिलाएं झेंपी, कुछ मर्दों ने नज़र नीची कर ली, कुछ मुंह घुमा कर मुस्करा दिए। अगली मीटिंग की बात चली तो नग़मा ने कहा कि मंच के पीछे से मंच पर जाने का रास्ता होना चाहिए। भीड़ के बीच से होकर मैं मंच पर नहीं जाऊंगी।
WD|
मेरठ से दीपक असीमचुनाव दफ्तर से मालूम पड़ा कि नग़मा साढ़े तीन बजे सर्किट हाउस पर चौधरी भूपालसिंह के घर सीनियर सिटीज़न से मीटिंग करेंगी। मीडिया के लोग जब वहां पहुंचे तो पता चला कि मीडिया को मीटिंग में नहीं आने दिया जाएगा। बाद में भले ही दस मिनिट बात-चीत करा दी जाएगी। फिर भी अपनेराम जैसे-तैसे दो मिनट के लिए उस मीटिंग वाले कमरे में घुसने में कामयाब हो गए (उधर कोई पहचानता जो नहीं है)।

और जली कोठी वाली बात पर क्या बोलीं नगमा... पढ़ें अगले पेज पर...


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :