FIFA WC 2018 : विजयी शुरुआत के लिए उतरेगा मेजबान रूस

Last Updated: बुधवार, 13 जून 2018 (19:28 IST)
मॉस्को। पिछले कुछ वर्षों में डोपिंग के विवादों से जूझ रहा और फीफा विश्वकप में सबसे निचली के साथ उतर रहा मेजबान टूर्नामेंट के उद्घाटन मुकाबले में सऊदी अरब के खिलाफ विजयी शुरूआत करने के लक्ष्य के साथ उतरेगा। उद्घाटन समारोह का सीधा प्रसारण भारतीय समयानुसार शाम 6.30 बजे होगा।

रूस और सऊदी अरब के मुकाबले से फुटबॉल के महाकुंभ की शुरुआत हो जाएगी। यह मुकाबला लुज़नीकी स्टेडियम में खेला जाएगा और दोनों टीमों की नज़रें विजयी शुरुआत करने पर लगी होंगी।

रूस और सऊदी अरब के ग्रुप ए में मिस्र और पूर्व विजेता उरुग्वे जैसी टीमें हैं। इस मुकाबले में जो टीम जीतेगी उसके लिए नॉकआउट दौर में पहुंचने की संभावना बढ़ जाएगी। रूस ने जब विश्वकप के आयोजन के लिए दावेदारी की थी तब उसकी टीम बुलंदी पर थी।

रूस ने 2008 की यूरोपियन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में जगह बनाई लेकिन तब से अब तक समय में बदलाव आ चुका है। रूस 32 टीमों के विश्वकप में सबसे निचली रैंकिंग की टीम के रूप में उतर रहा है। वह 2008 से किसी भी टूर्नामेंट में ग्रुप चरण से आगे नहीं निकल सका है जिसे देखते हुए रूसी टीम अपने देश की उम्मीदों को बनाए रखने के लिए शानदार शुरुआत करना चाहेगी।

रूस ने मेजबान होने के नाते क्वालिफिकेशन प्रक्रिया में हिस्सा नहीं लिया और उसे सीधे विश्वकप में जगह मिल गई, लेकिन इसके बाद के परिणामों में रूस को अपेक्षित सफलता हासिल नहीं हुई और वह विश्व रैंकिंग में 66वें नंबर पर खिसक गया।

रूस की आखिरी जीत अक्टूबर 2017 में दक्षिण कोरिया के खिलाफ थी और उसके बाद से सात मैचों में उसे कोई जीत हासिल नहीं हुई। दूसरी ओर सऊदी अरब ने विश्वकप के लिए अपनी तैयारियों को पूर्व चैंपियन इटली के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मैच से तेजी दी। हालांकि सऊदी अरब की टीम इस मुकाबले में 1-2 से हार गई थी। याहिया अल शहरी ने इस मैच में अपनी टीम का एकमात्र गोल किया।

यह भी दिलचस्प है कि इटली की टीम इस बार विश्वकप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकी है। पांचवीं बार विश्वकप में खेल रहे सऊदी अरब ने टूर्नामेंट आने तक दो कोचों को बर्खास्त किया है। एडगार्डो बाउजा को पांच मैचों के बाद ही उस समय बर्खास्त किया गया जब ड्रॉ निकलने में नौ दिन बाकी थे। सऊदी अरब ने भी लगातार तीन मैत्री मैच गंवाए हैं।

हालांकि यह पराजय उसे इटली, पेरू और गत चैंपियन जर्मनी से मिली है। दोनों टीमें विश्वकप में अपनी जीत का सूखा समाप्त करने उतरेंगी। रूस ने 2002 के बाद से विश्वकप में कोई मैच नहीं जीता है जबकि सउदी अरब की आखिरी जीत 1994 में अमेरिका में हुए विश्वकप में थी। रूस ने विश्वकप की तैयारियों के लिए नोवोगोर्स्क में अपने बेस में एक सप्ताह की ट्रेनिंग बहुत शांत तरीके से की है।

मॉस्को में जहां विश्वकप को लेकर हलचल मची हुई थी वहीं रूसी टीम शांति से अपना अभ्यास कर रही थी। मेजबान टीम के पक्ष में एक दिलचस्प आंकड़ा आता है। विश्वकप में कोई भी मेजबान टीम उद्घाटन मैच नहीं हारी है। मेजबान टीमों ने छ: जीत हासिल की है और तीन मैच ड्रॉ रहे हैं। रूस ने 1970 में सोवियत संघ के रूप में मैक्सिको के साथ विश्वकप का ओपनिंग मैच गोल रहित ड्रॉ खेला था और टीम को उम्मीद है कि उसकी विश्वकप में सकारात्मक शुरुआत होगी। (वार्ता)


और भी पढ़ें :