क्रिकेट में जो भारत के सामने हैं पिद्दी, ऐसे 5 देश फुटबॉल में भारत से आगे

नईदिल्ली। भारत में सबसे ज्यादा खेल देखा जाता है वह है क्रिकेट। सालों से भारतीय टीम को मिल रहे अपार समर्थन और प्यार से दूसरे खेलों को हाशिए पर ला खड़ा किया है। यह इस बात से साबित होता है कि भारत के सामने जो क्रिकेट में अंडरडॉग कहा जाता है ऐसे कई देश में हमसे कहीं आगे हैं। गौरतलब है कि भारत की फीफा रैंकिंग 105 हैं , अब देखते हैं उन देशों की स्थिती जो फुटबॉल में हमसे आगे हैं।(फोटो साभर- ट्विटर)
 
नीदरलैंड्स (फीफा रैंकिंग 20)
आपको याद होगा क्रिकेट विश्वकप 2003 के पहले मुकाबले में नीदरलैंड्स ने कैसे भारतीय टीम की हालत खस्ता कर दी थी। कमजोर बल्लेबाजी के कारण नीदरलैंड्स 205 का लक्ष्य भी न बना सकी और भारत यह मैच जीत गया। लेकिन फुटबॉल में नीदरलैंड्स हमसे कोसों आगे है। 
 
आयरलैंड ( फीफा रैंकिंग 26)
आयरलैंड क्रिकेट में भारत के खिलाफ 2-3 बार मैच खेल चुका है और सबमें उसे हार का सामना करना पड़ा है। हाल ही में आयरलैंड को टेस्ट दर्जा मिला है और हारे हुए पहले टेस्ट में उसने पाकिस्तान को कड़ी टक्कर दी। लेकिन फीफा में आयरलैंड की रैंकिंग 26 है, और भारतीय टीम फुटबॉल में शायद ही इस देश का मुकाबला कर पाए।
 
संयुक्त अरब अमीरात (फीफा रैंकिंग 72) 
माही की टीम जब क्रिकेट विश्वकप 2015 में संयुक्त अरब अमीरात के खिलाफ खेलने उतरी तो मैच से पहले ही मान लिया गया था कि भारत मैच जीतेगा।  एशिया कप में भी भारत ने एक बार यूएई को हराया है। हालांकि फीफा रैंकिंग को देखें तो फुटबॉल में यूएई भारत से कहीं बेहतर दिखता है।
 
कनाडा (फीफा रैंकिंग 96) 
वनडे क्रिकेट के सबसे न्यूनतम स्कोर (36) पर आउट हो चुकी कनाडा की टीम फुटबॉल में अपेक्षाकृत काफी बेहतर है । हालांकि कनाडा से भारत कभी भी आमने सामने नहीं हुआ है लेकिन कनाडा भारत से क्रिकेट में काफी कमजोर है और फुटबॉल में काफी बेहतर। 
 
केन्या (फीफा रैंकिंग 102) 
भारतीय टीम को सिर्फ दो बार क्रिकेट में हराने में कामयाब केन्या की टीम फुटबॉल में बस थोड़ा बेहतर हैं। हालांकि हाल ही में टीम ने केन्या को इंटरकोंटिलेंटन कप में 3-0 से हराया है लेकिन रैंकिंग देखी जाए तो केन्या की फुटबॉल टीम भारत से बेहतर है।
 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :