वेलेंटाइन डे पर लीजिए रोमांटिक गानों का मज़ा (वीडियो)

वेलेंटाइन डे मौके पर रोमांटिक गानों का अपना ही मज़ा है। आप वेलेंटाइन डे को सेलेब्रेट करने में इन गानों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। रोमांटिक, सॉन्ग, वेलेंटाइन डे की खूबसूरती को और भी बढ़ा देते हैं। तो देखिए ये रोमांटिक सान्ग्स और डूब जाइए प्यार में।

Widgets Magazine

लागी बेरिया पिया के आवन की

लागी बेरिया पिया के आवन की उन्हीं पर फबता है जिनके पिया नहीं आते या जिनकी किस्मत में पिया नहीं, उनके आने के गीत होते हैं। बेगम ने इस विरह गीत ...

भीगी पलकें उठा मेरी जाँ गम न कर...

यहाँ रफी का बेस, पथरीली संजीदगी और स्वर की स्थिरता गौर करने लायक है। ऐसा लगता है कि जैसे रात भर दिल में खामोश मातम करके प्रेमी की आँखें सूज गई ...

न जाने कौन ये आवाज देता है...

देखा जाए तो सी. अर्जुन मात्र इस एक गीत के कारण कालजयी माने जा सकते हैं, जिसका मुखड़ा हमने इस आलेख के शीर्षक के रूप में दिया है। ऐसा बहुत कम होता ...

तू प्यार का सागर है...

एक उम्दा फिल्म। खूबसूरत कथा। बलराज साहनी और नूतन का दिल को छू जाने वाला अभिनय। पवित्र और मूक प्यार का मर्मस्पर्शी आदर्श। एक से एक कर्णप्रिय ...

नैनों में प्यार डोले दिल का करार डोले.....

पानी से बहते कोमल फ्लो में जब लता 'पिया' शब्द को उठाती हैं तो मन एक साथ बीजगुप्त और देवदास हो जाता है। समझ नहीं आता, लता को प्यार किया जाए या उस ...

ये झुकी-झुकी-झुकी निगाहें तेरी...

ये झुकी-झुकी निगाहें तेरी, मोहम्मद रफी, उषा खन्ना, बॉलीवुड, राजेन्द्र कृष्ण, गीत गंगा, अजातशत्रु, आओ प्यार करें

चाँद आहें भरेगा फूल दिल थाम लेंगे...

मुकेश की गंभीर, दानेदार और निर्मल आवाज वीराने में, झुलसे फूलों की लड़ी, खड़ी करती जाती है, जबकि गीत का अर्थ और धुन हर्ष की माँग करते हैं। यानी इस ...

होऽऽऽ धन्नो की आँखों में, हाँ, रात का सुरमा...

'धन्नो की आँखों में' गीत फिल्म 'किताब' का है। 'किताब' सन्‌ 78 की फिल्म है। इस गीत की धुन और वाद्य संगीत इतना अनोखा, कल्पनाप्रधान और दिल को छू ...

किसी का दर्द मिल सके, तो ले उधार...

तरह-तरह के अंदेशों में और रोज डूबते जा रहे दिल के दौर में, तब पुराने गीत सुनना बड़ा भला लगता है, जिनमें इंसानियत की आवाज हो। रिश्तों को जिंदा ...

मेरी आँखों से कोई नींद लिए जाता है...

एक प्रकार से यही भाव-तत्व लता मंगेशकर के व्यक्तित्व के हैं। सो गीत की मिठास और सौम्यता तथा उनसे उठने वाली भारतीय यौवना की प्रीतिकर छवि... स्वयं ...

गाए जा गीत मिलन के, तू अपनी लगन के

आज जब नौशाद साहब इस दुनिया में नहीं हैं, तो क्या हुआ। उनके गीत, उनकी याद अमर है। एक जमाना था। देश में 'मेला' फिल्म रिलीज हुई थी। तब दिलीप कुमार ...

ये रात सुहानी रात नहीं, ऐ चाँद-सितारों सो जाओ

एक दौर के सिने दर्शकों ने ट्रेजेडी को पसंद किया और दर्द के सिनेमा को सुपरहिट बनाया। आज दिलीपकुमार, मीनाकुमारी और तलत मेहमूद हाशिए की चीज हो गए ...

कदम बहके-बहके, जिया धड़क-धड़क जाए...

धुन तो खैर मनमोहक है ही- वायलिन, गिटार और ढोलक की मधुर रवानी वाद्यसंगीत को भी उतना ही प्रीतिकर बना देती है। यह सोने में सुहागा है क्योंकि इससे ...

ओ सजना बरखा बहार आई

गौर करें तो यह गीत वर्षा के बारे में कम, उसकी बूँदाबाँदी, फुहार, ठंडी हवा और आर्द्रता के बारे में ज्यादा है। यह वर्षा गीत नहीं, वातावरण प्रधान ...

अजीब दास्ताँ है ये, कहाँ शुरू कहाँ खतम...

राजकुमार और मीनाकुमारी जैसे दिग्गज कलाकारों के कालजयी अभिनय ने फिल्म की दुःखद प्रेमकथा को अविस्मरणीय ऊंचाई प्रदान की थी और अर्से तक मीना हमारे ...

मुझपे इल्जामे बेवफाई है...

आप में से अधिकांश का सुना हुआ गीत होगा यह। उत्तर पाँचवें दशक से छठे दशक के काफी वर्षों तक यह विविध भारती पर बजता रहा और बेशुमार फरमाइशों को ...

सांवले सलोने आए दिन बहार के...

हेमंत दा व्यक्तिगत जीवन में इतने शालीन, सुसंस्कृत और मर्यादावान व्यक्ति थे कि उनके गीतों में वही सात्विकता आई। आप लता-हेमंत के चंद डूएट्स याद ...

नागपंचमी पर विशेष गीत-गंगा

फिल्म में सुहागरात को एक नाग पति को काटने आता है और नायिका उसे गाकर लौट जाने को कहती है। नाग अंततः पति को काट लेता है और वह मर जाता है। यह ...

Widgets Magazine

जरूर पढ़ें

किल/दिल : फिल्म समीक्षा

किल/दिल में अभिनय, संवाद, संगीत पर मेहनत की गई है, लेकिन लेखन विभाग की कमजोरी फिल्म पर भारी पड़ी

सनी लियोन की फिल्म 'कुछ कुछ लोचा है'

सनी लियोन और राम कपूर एक फिल्म साथ कर रहे हैं जिसका नाम 'पटेल रैप' था। बदलकर अब इसे 'कुछ कुछ लोचा ...

न्यूड सीन के कारण माधुरी ने ठुकराई थी फिल्म

वर्षों पूर्व शाजी एन. करूण को राजा रवि वर्मा पर फिल्म बनाने का विचार आया था। रवि वर्मा के रूप में ...

Widgets Magazine

नवीनतम

चटपटा चुटकुला : डॉक्टर-मरीज और दांत

डॉक्टर ( मरीज से) - आपका दांत निकालना पड़ेगा। मरीज- डॉक्टर साहब, कितने पैसे लगेंगे?

फनी चुटकुला : पानी कहां से आता है...

बच्चा - नल से गिरते हुए पानी को देखकर पिता से बोला - पापा, यह पानी कहां से आता है? पिता- नदी से।

Widgets Magazine