आमिर खान | टीवी | अमिताभ बच्चन | ऐश्वर्या राय | दिलीप कुमार | ग्लैमर दुनिया | ऑस्कर | मिर्च-मसाला | मुलाकात | फिल्म समीक्षा | आने वाली फिल्म | हॉलीवुड से | फोकस | एड्रेस बुक | आलेख | गीत-गंगा | फिल्मोग्राफी | सिने-मेल | कैटरीना कैफ | बॉलीवुड 2011
मुख पृष्ठ मनोरंजन » बॉलीवुड » मिर्च-मसाला » भारत की पहली जॉमकॉम फिल्म गो गोआ गोन
गो गोआ गोन
PR


10 मई, 2013 को रिलीज होने वाली अपने आप में एक अनोखी फिल्म 'गो गोआ गोन' का पहला ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है। इल्यूमिनाती फिल्म और ईरोज इंटरनेशनल्स की नई पेशकश गो जोआ गोन के बारे में यह निश्चित तौर पर कहा जा सकता है कि इसमें रोमांच, उल्लास, मजा, मस्ती के साथ वह सब कुछ है जो एक हिन्दी फिल्म में होना चाहिए। राज निडिमोरू और कृष्णा डी के द्वारा निर्देशित फिल्म गो गोआ गोन भारतीय सिनेमा की पहली जॉमकॉम यानि जॉम्बी कॉमेडी फिल्म है।

फिल्म में मुख्य किरदार निभा रहे बॉलिवुड अभिनेता सैफ अली खान ने कहा कि 'जब मैं पहली बार बोरिस से मिला तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था। वह शांत और गम्भीर होने पर भी मजाकिया है। वह बहादुर और दिल का नेक इंसान भी है। मुझे बहुत खुशी है कि मैं अपने किरदार, शिकारी बोरिस दी जॉम्बी को निभा रहा हूं और इससे भी ज्यादा खुशी मुझे इस फिल्म को प्रोड्यूस करने की हो रही है'।

अपनी फिल्म के बारे में बात करते हुए इल्यूमिनाती फिल्म के प्रोड्यूसर विजान ने कहा कि 'गो गोआ गोन एक नई शैली की फिल्म है। इसमें गति है, कहानी है, कैरेक्टर हैं और मनोरंजन का हर वो तड़का है जो एक फिल्म को जरूर देखने लायक बनाता है। सैफ के बोरिस दी जॉम्बी चरित्र से लेकर कुणाल (कुणाल खेमू), वीर और आनंद के बीच की कॉमेडी से लेकर खतरनाक जॉम्बी के हमलों तक सब कुछ रोमांचित कर देने वाला है। हमें इस फिल्म को बनाने में बहुत मजा आया'।

गो गोआ गोन फिल्म में डर और हंसी का गजब का कॉम्बिनेशन है जो इस फिल्म को अपने आप में एक अलग शैली की फिल्म बनाता है। हार्दिक (कुणाल) और लव (वीर) दो मूर्ख दोस्त अपने दोस्त बन्नी (आनंद) के साथ उसकी बिजनेस ट्रिप के लिए गोआ चले जाते हैं। लव एक खुले विचारों वाली लड़की लूना (पूजा) से मिलता है और वो दोनों को एक सुनसान आइलैंड पर होने वाली अंडरग्राउंड रेव पार्टी में आमंत्रित करती है। यह पार्टी, एक ड्रग की लांच के लिए रशियन माफिसो बोरिस (सैफ) के दिमाग की उपज होती है। मगर इस आइलैंड पर कुछ तो है जो ठीक नहीं है। एक दम से इन्हें जॉम्बीज के आक्रमण का शिकार होना पड़ता है। ये जॉम्बीज कहां से आएं? ये बोरिस आखिर है कौन? और यह ड्रग डीलर डॉन क्यों हार्दिक और लव की जान बचाता है? हार्दिक और लव दोनों इस आइलैंड से बाहर निकलने के लिए तड़प रहे हैं मगर क्या वो निकल पाते हैं? इन सब सवालों के जवाब देगी फिल्म गो गोआ गोन।

एरोज इंटरनेशनल के प्रोड्यूसर सुनील लुल्ला ने कहा कि हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि सिनेमा हर दिन विकसित हो रहा है और हमारे दर्शकों की प्रकृति भी। इस बात ने फिल्ममेकर्स को अलग हट कर और पूर्ण मनोरंजक सिनेमा बनाने के लिए प्रोत्साहित किया है। यही प्रयास हमने अपनी फिल्म गो गोआ गोन में किया है।

इस फिल्म को सीता मेनन के साथ राज और डीके ने भी लिखा है जिन्होंने शोर इन दी सिटी बनाई थी। फिल्म का संगीत सचिन - जिगर ने दिया है।

संबंधित जानकारी
Feedback Print