क्या इस बार अशुभ है पुष्य नक्षत्र ? जरूर पढ़ें

: इस बार दो दिन है पवित्र पुष्य नक्षत्र  ले‍किन... 
 
 
इस माह दीपावली से पूर्व दो दिन पुष्य-नक्षत्र रहेगा। पुष्य-नक्षत्र को सभी नक्षत्रों का राजा माना गया है। यह एक अत्यन्त शुभ नक्षत्र है। इसमें जन्म लेने वाला जातक प्रकाण्ड विद्वान व समाज में प्रतिष्ठित होता है। भगवान राम का जन्म भी इसी शुभ पुष्य-नक्षत्र में हुआ था। पुष्य-नक्षत्र का स्वामी शनि है। >  
इस वर्ष दीपावली से पूर्व पुष्य-नक्षत्र दो दिन तक रहेगा। इस माह दिनांक 13 अक्टूबर,2017 दिन शुक्रवार; नवमी तिथि को प्रात: 4 बजकर 45 मिनिट से पुष्य नक्षत्र का प्रारम्भ होगा जो दिनांक 14 अक्टूबर 2017, दिन शनिवार प्रात: 6 बजकर 53 मिनिट तक रहेगा। 
 
अत: इस दीपावली से पूर्व शुक्रवार एवं शनिवार दो दिन पुष्य नक्षत्र का संयोग बनेगा। पुष्य नक्षत्र में प्रारम्भ किया गया कार्य सफ़लतादायक होता है। 
 
पुष्य नक्षत्र खरीदी के लिए भी श्रेष्ठ माना गया है। विशेषकर पुष्य नक्षत्र में वाहन, भूमि, गृहारम्भ अथवा घर खरीदना अत्यन्त लाभदायक रहता है। पुष्य नक्षत्र में कार्य करने से सभी प्रकार के दोष व अनिष्टों से मुक्ति प्राप्त होती है। पुष्य नक्षत्र जब रविवार अथवा गुरुवार के दिन होता है तब यह विशेष शुभ व लाभकारी होता है। इस शुभ संयोग को रवि-पुष्य व गुरु-पुष्य कहा जाता है। पुष्य एक अन्ध नक्षत्र है। पुष्य-नक्षत्र में खोई हुई वस्तु शीघ्र प्राप्त हो जाती है।
 
पुष्य-नक्षत्र अशुभ भी हो सकता है 
 
जिस प्रकार चन्द्रमा में भी दाग है ठीक उसी प्रकार अत्यन्त शुभ होने के बावजूद पुष्य नक्षत्र में भी थोड़ी अशुभता है। पुष्य नक्षत्र जब शुक्रवार के दिन आता है तब यह शुभ ना होकर उत्पात व बाधाकारक होता है। विवाह में भी पुष्य नक्षत्र को अशुभ माना गया है। विवाह लग्न हेतु पुष्य नक्षत्र वर्जित है।
शुक्रवार को पुष्य नक्षत्र शुभ नहीं-
 
इस माह दिनांक 13 अक्टूबर, नवमी तिथि, दिन शुक्रवार को पुष्य-नक्षत्र रहेगा। शुक्रवार के दिन आने वाला पुष्य नक्षत्र उत्पात व बाधाकारक होता है। 
 
-ज्योतिर्विद् पं. हेमन्त रिछारिया
सम्पर्क: astropoint_hbd@yahoo.com>  
वीडियो 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

यदि आप निरोग रहना चाहते हैं, तो पढ़ें यह चमत्कारिक मंत्र

यदि आप निरोग रहना चाहते हैं, तो पढ़ें यह चमत्कारिक मंत्र
भागदौड़ भरी जिंदगी में आजकल सभी परेशान है, कोई पैसे को लेकर तो कोई सेहत को लेकर। यदि आप ...

ज्योतिष सच या झूठ, जानिए रहस्य

ज्योतिष सच या झूठ, जानिए रहस्य
गीता में लिखा गया है कि ये संसार उल्टा पेड़ है। इसकी जड़ें ऊपर और शाखाएं नीचे हैं। यदि कुछ ...

श्रावण मास में शिव अभिषेक से होती हैं कई बीमारियां दूर, ...

श्रावण मास में शिव अभिषेक से होती हैं कई बीमारियां दूर, जानिए ग्रह अनुसार क्या चढ़ाएं शिव को
श्रावण के शुभ समय में ग्रहों की शुभ-अशुभ स्थिति के अनुसार शिवलिंग का पूजन करना चाहिए। ...

क्या प्रारब्ध की धारणा से व्यक्ति अकर्मण्य बनता है?

क्या प्रारब्ध की धारणा से व्यक्ति अकर्मण्य बनता है?
ऐसा अक्सर कहा जाता है कि आज हम जो भी फल भोग रहे हैं वह हमारे पूर्वजन्म के कर्म के कारण है ...

किस तिथि को क्या खाने से होगा क्या नुकसान, जानिए

किस तिथि को क्या खाने से होगा क्या नुकसान, जानिए
खाना बनाना भी एक कला है। हालांकि जो मिले, वही खा लें, इसी में भलाई है। खाने के प्रति ...

20 जुलाई 2018 : आपका जन्मदिन

20 जुलाई 2018 : आपका जन्मदिन
दिनांक 20 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस ...

20 जुलाई 2018 के शुभ मुहूर्त

20 जुलाई 2018 के शुभ मुहूर्त
शुभ विक्रम संवत- 2075, अयन- दक्षिणायन, मास- आषाढ़, पक्ष- शुक्ल, हिजरी सन्- 1439, मु. मास- ...

क्या सचमुच ही पंचक में मरने वाला पांच अन्य को भी साथ ले ...

क्या सचमुच ही पंचक में मरने वाला पांच अन्य को भी साथ ले जाता है?
गरुड़ पुराण सहित कई धार्मिक ग्रंथों में उल्लेख है कि यदि पंचक में किसी की मृत्यु हो जाए तो ...

वैकुंठ धाम कहां और कैसा है, जानिए रहस्य

वैकुंठ धाम कहां और कैसा है, जानिए रहस्य
कहते हैं कि मरने के बाद पुण्य कर्म करने वाले लोग स्वर्ग या वैकुंठ जाते हैं। हालांकि वेद ...

भोलेनाथ को क्यों प्रिय है भस्म, जानेंगे तो श्रद्धा से भावुक ...

भोलेनाथ को क्यों प्रिय है भस्म, जानेंगे तो श्रद्धा से भावुक हो जाएंगे, साथ में पढ़ें महाकाल की भस्मार्ती का राज
आखिर भगवान भोलेनाथ को विचित्र सामग्री ही प्रिय क्यों है। बहुत कम लोग जानते हैं कि उनके ...

राशिफल