इस दिवाली ना भूलें, याद रखें धन प्राप्ति के 9 सरल मंत्र


शीघ्र धन प्राप्ति के लिए
दिवाली
श्रेष्ठ समय है। अत: जिन्हें धन की अभिलाषा हो, उन्हें इसका लाभ निम्न तरीकों में से किसी एक को अपनाकर उठाना चाहिए।
श्रीयंत्र, श्री महालक्ष्मी यंत्र, लक्ष्मी यंत्र अभाव में बैठी लक्ष्मी कमलवासिनी के चित्र का पूजन कर यथाशक्ति निम्न मंत्रों में से किसी एक मंत्र का कमल गट्टे की माला
या स्फटिक की माला से जप करना चाहिए। दूसरे दिन वह यंत्र या माला दोनों (स्फटिक की माला धारण की जा सकती है) तिजोरी-गल्ले में रख दें,‍ फिर चमत्कार देखें।

(1) 'ॐ श्रीं श्रियै नम:।'

(2) 'ॐ कमलवासिन्यै श्रीं श्रियै नम:।'

(3) 'ॐ श्री ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्री ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नम:।'

(4) 'ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं ह्रीं नम:।'

(5) 'ॐ श्रीं नम:।'

(6) व्यापार वृद्धि के लिए निम्न मंत्र श्रीयंत्र को सामने रखकर पूजन कर जपें।

मंत्र- 'ॐ ह्रीं ऐं व्यापार वृद्धिं ॐ नम:।'

(7) दरिद्रता नाश के लिए यदि कोई भी प्रयोग सफल न हो तो दुर्गाजी के यंत्र, प्रतिमा, ‍चित्र के सामने निम्न मंत्र जपें। 'ऐं श्रीं ऐं यं रं लं वं दुर्ग तारिण्यै देन्य नाशिन्ये स्वाहा।।' यथाशक्ति जप कर नित्य एक माला जपें। 2 माह बाद प्रभाव दृष्टिगोचर होगा।
(8) जिन व्यक्तियों का बुद्धि विकास रुक गया हो तथा कार्यबाधा आती हो, वे गणेशजी के सामने जपें-
'ॐ गं गणपतये नम:।''
तथा

'ॐ ऐं ह्रीं श्रीं सरस्वत्यै नम:।।'

(9) जिन व्यक्तियों को मकान बनाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, वे निम्न मंत्र का जप करें, शीघ्र अभिलाषा पूर्ण होगी।

'ॐ ह्रीं वसुधा लक्ष्म्यै नम:।।'

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :