योगासन से कम करें मोटापा, जानें सरलतम उपाय...


* करने में उपयोगी 'योगा आसन' जानिए    
 
 
मनुष्य को प्रकृति की ओर से संतुलित और सुडौल शरीर मिलता है, पर वह गलत रहन-सहन, बुरी आदत तथा खान-पान में अनियमितता के कारण इस शरीर को बेडौल बना लेता है। वैज्ञानिक रूप से मोटापा हम उसे कहते हैं जिसमें शरीर का वजन ऊंचाई के मान से अधिक होता है।
 
आधुनिक समय में यह एक बीमारी के रूप में तेजी से फैल रहा है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि हम शारीरिक श्रम उतना नहीं करते, जितना कि हमारे द्वारा खाए गए खाने के बाद किया जाना चाहिए। जो ऊर्जा शरीर में ज्यादा उत्पन्ना होकर अतिरिक्त रह जाती है, वह शरीर के उन्हीं भागों में चर्बी के रूप में एकत्र हो जाती है, जिनका उपयोग हम अधिक नहीं करते हैं।
>  
कूल्हे व पीठ का भाग बढ़ जाता है, पेट के लटकने से मांसपेशियां ढीली हो जाती हैं, हाथों व जांघों का थुलथुला हो जाना- ये सभी लक्षण मोटापे के रूप में दिखते हैं। मोटे व्यक्ति अधिकांशतः कब्ज के कारण पीड़ित रहते हैं और उन्हें मधुमेह, उच्च रक्तचाप, दिल की बीमारी, जोड़ों का दर्द, गठिया, घुटनों में दर्द की संभावना भी अधिक होती है।

>

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

महाभारत के पांच मामाओं के 'कारनामे' जानकर चौंक जाएंगे

महाभारत के पांच मामाओं के 'कारनामे' जानकर चौंक जाएंगे
महाभारत में मामाओं के बड़े जलवे रहे हैं। एक ओर मामाओं ने लुटिया डुबोई है तो दूसरी ओर पार ...

जानिए क्या है केमद्रुम योग, यह योग जातक को बना देता है

जानिए क्या है केमद्रुम योग, यह योग जातक को बना देता है कंगाल
लग्न चक्र के विविध योगों में केमद्रुम योग एक ऐसा योग है, जिसके कारण बहुत कठिनाइयां सामने ...

क्या है पुरी की जगन्नाथ रथयात्रा का राज, इन 15 बिंदुओं से ...

क्या है पुरी की जगन्नाथ रथयात्रा का राज, इन 15 बिंदुओं से जानिए संपूर्ण रथयात्रा का महत्व
विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा जगन्नाथ यात्रा का उत्साह चरम पर है। देश-विदेश से लोग इसमें शामिल ...

आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि के मुहूर्त और पूजन का शुभ समय, ...

आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि के मुहूर्त और पूजन का शुभ समय, जानिए...
आषाढ़ गुप्त नवरात्रि का पर्व 13 जुलाई 2018 से शुरू हो रहा है। आषाढ़ शुक्ल पक्ष की एकम तिथि ...

उड़ीसा में एक जगन्नाथ मंदिर ऐसा भी है जहां नहीं निकलती ...

उड़ीसा में एक जगन्नाथ मंदिर ऐसा भी है जहां नहीं निकलती रथयात्रा, जानिए आप भी...
गंजाम के मरदा स्थित जगन्नाथ मंदिर में कोई देवी-देवता ही स्थापित नहीं हैं। कहते हैं, सन ...

16 जुलाई से कर्क में सूर्य, जानिए किस राशि के लिए शुभ, ...

16 जुलाई से कर्क में सूर्य, जानिए किस राशि के लिए शुभ, किसके लिए अशुभ
सोमवार, 16 जुलाई 2018 को सूर्य 22.42 बजे कर्क राशि में गोचर भ्रमण करेगा और 17 अगस्त 2018 ...

शुक्र इन दिनों मघा नक्षत्र में, जानिए क्या कुछ घटित होगा ...

शुक्र इन दिनों मघा नक्षत्र में, जानिए क्या कुछ घटित होगा आपके जीवन में
5 जुलाई, गुरुवार को रात्रि 12.53 पर शुक्र ने मघा नक्षत्र अर्थात सिंह राशि में प्रवेश कर ...

16 से 23 जुलाई 2018 : साप्ताहिक राशिफल

16 से 23 जुलाई 2018 : साप्ताहिक राशिफल
आपकी आमदनी का नया स्रोत शुरू होने की संभावना है। आप में से कुछ लोगों को पुश्तैनी संपत्ति ...

जरासंध के दो टुकड़े करने के बाद भी वह जीवित हो जाता था, तब ...

जरासंध के दो टुकड़े करने के बाद भी वह जीवित हो जाता था, तब ऐसे मारा भीम ने
कहते हैं कि जरासंध ने अपने पराक्रम से 86 राजाओं को बंदी बना लिया था। बंदी राजाओं को उसने ...

खराब मौसम के चलते कैलाश तीर्थयात्रियों के कदम पिथौरागढ़ में ...

खराब मौसम के चलते कैलाश तीर्थयात्रियों के कदम पिथौरागढ़ में ठिठके
पिथौरागढ़। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में पिछले कई दिनों से हो रही बारिश और खराब रोशनी ...

राशिफल