इस लेख के लिए टिप्पणियाँ बंद हो गयी है..

टिप्पणियां

Himanshu

क्यों झूठ मुठ का न्यूज़ देते हो. बीजेपी ने कांग्रेस मुक्त भारत का जो सपना देखा था वो अब साकार हो गया. कांग्रेस को इससे सबक लेकर कुछ जमीन से जुड़े हुए नेता को कांग्रेस का सम्पूर्ण कार्यभार सोप देना चाहिए, नहीं तो वो दिन दूर नहीं की सोनिआ और पप्पू दोनों को अपना बोरिया विस्तार समेत कर इटली जाना पड़ेगा. भारत को एक रचनात्मक बिपक्ष की आवश्यकता है न की एक पप्पू की, जो केवल राजनीतिक ड्रामा करता है. राहुल गाँधी ने क्या किया? जो आदमी कभी न राजनीति में सक्रिय दिखाई दिया, न मज़दूरों के आंदोलन में, न सरकारी कर्मचारियों से जिसका संपर्क रहा और न किसान-आदिवासियों से, वही अचानक एक दिन उत्तर प्रदेश में एक दलित की चारपाई में जाकर बैठ जाता है. या फिर जब मायावती की सरकार दिल्ली के पास अपनी ज़मीन बचाने की लड़ाई लड़ रहे किसानों पर गोली चलवाती हैं तो राहुल गाँधी सवेरे पाँच बजे मोटरसाइकिल के पीछे बैठकर पुलिस वालों को धता बताते हुए दिल्ली के पास भट्टा-पारसौल के किसानों की मिज़ाजपुर्सी करने पहुँच जाते हैं. उन्हें और उनके योजनाकारों को ये भरोसा रहा होगा कि भट्टा-पारसौल घटना के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों की नज़र में राहुल गाँधी का ओहदा चौधरी चरण सिंह और चौधरी देवीलाल के बराबर हो जाएगा? राहुल गाँधी की राजनीति का ये नख-शिख वर्णन कर्नाटक में काँग्रेस के हार के बहाने नहीं किया जा रहा है. कर्नाटक में काँग्रेस की हार उस सतत प्रक्रिया का हिस्सा है जिसकी गारंटी राहुल गाँधी ख़ुद हैं. अगर कहीं काँग्रेस जीतती है तो राहुल गाँधी के कारण नहीं बल्कि उनके अपने क्षेत्रीय बजूद पर जीतती है.
X REPORT ABUSE Date 16-05-18 (02:07 PM)

shailendra

इस न्यूज़ की हैडिंग ही मजेदार है कर्नाटक में जीत के बाद राहुल गांधी के 'प्लान बी' ने उड़ाई प्रधानमंत्री मोदी की नींद. अगर १२२ सीट से ७८ पे आना जीत है और सत्ता से बेदखल हो के बीजेपी के बी टीम बताने वाले को बिना मगे बिना शर्त समर्थन देना जीत है तो फिर हरा कौन बीजेपी मोदी जिनकी सीट्स डबल से भी ज्यादा हुयी ४० से १०४. भाई अगर चापलूसी ही करनी है तो पत्रकारिता छोड़ के कांग्रेस ज्वाइन करलो कोई न कोई पद मिल ही जायेगा वैसे भी कांग्रेस में चापलूसों की भरमार है. अब बात नींद उड़ाने की तो वो किसकी उडी पप्पू और कोंग्रेसीओ के चेहरे बता रहे कांग्रेस का रिकॉर्ड है किसी सर्कार को ५ साल तक अपना कार्यकाल पूरा नहीं करने दिए है अभी कर्नाटका में बीजेपी को रोक दिया पर २०१९ के लिए लोक सभा की नीव मजबूत हो गयी कर्नाटका की जनता भी समझ गयी की कांग्रेस जेडीएस मिले हुए है इनको सिर्फ सत्ता चाहिए चाहे उसकी कीमत कुछ बी हो
X REPORT ABUSE Date 16-05-18 (05:16 PM)