छत्तीसगढ़ में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी में बसपा, जोगी कांग्रेस ने डाले डोरे...

रायपुर| विशेष प्रतिनिधि| Last Updated: बुधवार, 12 सितम्बर 2018 (16:25 IST)
रायपुर। छत्तीसगढ़ में गठबंधन की अटकलों के बीच बसपा ने अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी कर ली है। पार्टी के प्रदेश प्रभारी डॉक्टर अशोक सिद्धार्थ के मुताबिक पार्टी की चुनावी तैयारियां अच्छी चल रही हैंऔर पार्टी सभी 90 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने दावा किया कि पार्टी सितंबर के अंत तक उम्मीदवारों के नाम का एलान कर देगी।

के साथ गठबंधन की अटकलें : एक ओर पार्टी अकेले चुनाव लड़ने की बात कह रही है तो दूसरी ओर राज्य में बसपा की चुनावी तैयारियों की समीक्षा करने आए पार्टी के मुख्य प्रभारी डॉक्टर अशोक सिद्धार्थ और लालजी वर्मा से जनता कांग्रेस के सुप्रीमो अजीत जोगी के गुपचुप रूप से मिलने की चर्चा तेज है।

बताया जा रहा है कि दोनों दलों के नेताओं के बीच प्रदेश में गठबंधन को लेकर चर्चा हुई है। ऐसा नहीं है कि दोनों दलों के नेता पहली बार गठबंधन को लेकर मिले हैं। पिछले दिनों ये बात सामने आई थी कि दिल्ली में बसपा सुप्रीमो मायावती से जनता कांग्रेस के प्रमुख अजीत जोगी ने दिल्ली में मुलाकात की थी। वहीं दोनों दलों के गठबंधन की चर्चा ऐसे समय फिर गरम हो गई है, जब अजीत जोगी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर बसपा के संस्थापक कांशीराम को भारत रत्न देने की मांग की है।

ऐसे में अगर चुनाव में बसपा और जोगी कांग्रेस का गठबंधन होता है तो ये बीजेपी और कांग्रेस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं होगा। अगर बात करें 2013 के विधानसभा चुनावों की तो बसपा को साढ़े चार फीसदी वोट मिले थे और पार्टी को एक सीट पर जीत हासिल हुई थी।

वहीं पूरे राज्य में करीब दस सीट ऐसी हैं जहां बसपा मजबूत स्थिति में है। वहीं प्रदेश की 6 सीट ऐसी हैं जहां बीएसपी के उम्मीदवार कभी न कभी जीत चुके हैं।


और भी पढ़ें :