आईएएस बनने के लिए देना होगी ईमानदारी की परीक्षा

WD|
FILE
अब बनने के लिए ईमानदारी की परीक्षा देनी होगी। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा परीक्षा पैटर्न में एक बार फिर से बदवाव किया है।

इस बार बदलाव में सामान्य अध्ययन और सहज योग्यता को विशेष महत्व दिया है। केद्र सरकार के कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) ने इस बदलावों की अधिसूचना बुधवार को जारी कर दी है।

प्रतिभागियों की ईमानदारी का आकलन करने के लिए इस बार एक्जाम में 'नीति, ईमानदारी और सहज योग्यता' का नया पेपर जोड़ा गया है। एक बड़े बदलाव के तहत भारतीय वन सेवा परीक्षा भी सिविल सेवा परीक्षा में जोड़ दी गई है।
दोनों प्रारंभिक एक्जाम साथ में होगी। प्रतिभागियों के पास दोनों में किसी एक परीक्षा में शामिल होने का ऑप्शन भी होगा। सिविल सर्विस और फॉरेस्ट सर्विस की मेन एक्जाम अलग-अलग होगी। अभी तक इंडियन फॉरेस्ट सर्विस के लिए अलग एक्जाम होती थी। इसमें सलेक्शन रिटन और इंटरव्यू द्वारा होता था। अब इसमें में प्रारंभिक एक्जाम होगी।

हुआ अंक विभाजन प्रणाली में बदलाव : कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग ने अंक विभाजन प्रणाली में भी बदलाव किया है। सिविल सर्विस मेन एक्जाम में जनरल नॉलेज सब्जेक्ट के अनिवार्य के मार्क्स बढ़ा दिए गए हैं। इस साल से मेन एक्जाम में जनरल नॉलेज के 250-250 अंकों के चार अनिवार्य प्रश्नपत्र होंगे।
जनरल नॉलेज के पेपर को इस प्रकार तैयार किया जाएगा, जिससे किसी विषय में विशेषज्ञता हासिल किए बिना भी कोई जानकार प्रश्नों के उत्तर दे सके। इसके अलावा इतने ही अंकों के दो वैकल्पिक प्रश्नपत्र भी होंगे। पहले सामान्य अध्ययन के दो अनिवार्य प्रश्नपत्र होते थे और दो वैकल्पिक विषयों के। प्रत्येक पेपर 300 अंकों का होता था। मेन एक्जाम में कुल मार्क्स 1800 होंगे। निबंध और अंग्रेजी का पेपर 300 मार्क्स का होगा।
प्रधानमंत्री ने दी थी मंजूरी : परीक्षा प्रणाली में बदलाव के लिए यूपीएससी द्वारा एक समिति गठित की गई थी। वि‍श्वविद्यालय अनुदान आयोग के पूर्व अध्यक्ष एस. निगवेकर के नेतृत्व में बनी समिति ने ये बदलाव की सिफारिश पेश की जिसे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मंजूरी दी थी।

26 मई को होगी एक्जाम : इस साल सिविल सर्विस की प्रारंभिक परीक्षा 26 मई को होगी। इसके लिए ऑनलाइन फार्म समिट करने की आखिरी तारीख 4 अप्रैल है।
क्या हैं मुख्य बदलाव :

- 1800 मार्क्स की होगी सिविल सेवा की मुख्य एक्जाम।
- सिविल सेवा व इंडियन फॉरेस्ट के लिए कॉमन एक्जाम।
- सामान्य अध्ययन और सहज योग्यता को ज्याद महत्व।
- सामान्य अध्ययन के अनिवार्य पेपर 2 की जगह 4 होंगे।
- सामान्य अध्ययन के अनिवार्य पेपर के मार्क्स बढ़ाए गए।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :