स्त्री की कहानी

बैनर : मैडडॉक फिल्म्स, डी2आर फिल्म्स प्रा.लि.
निर्माता : दिनेश विजन, राज-डीके
निर्देशक : अमर कौशिक
संगीत : सचिन संघवी, जिगर सरैया
कलाकार : राजकुमार राव, श्रद्धा कपूर, पंकज त्रिपाठी, अपारशक्ति खुराना, अभिषेक बैनर्जी, कृति सेनन (आइटम नंबर)

इस साल मर्द को दर्द होगा। यह कहना है 'स्त्री' के ट्रेलर का। इसे हॉरर-कॉमेडी मूवी कहा जा रहा है जिसकी झलक हम ट्रेलर में देख चुके हैं।

यह कहानी है चंदेरी नामक जगह की। छोटा-सा शहर है। यहां एक अजीब स्त्री चर्चा में है। जो पुरुषों को उनके नाम से बुलाती है।



अचानक कई पुरुष गायब होने लगते हैं। सिर्फ उनके कपड़े ही मिलते हैं। कोई नहीं जानता कि यह क्या हो रहा है? क्यों हो रहा है?

सबके पास अपनी-अपनी कहानियां हैं। कोई कहता है कि यह स्त्री ही सब कर रही है। अजीब-सा डर का माहौल शहर में पसरा हुआ है। घर की दीवारों पर लिख दिया है 'ओ स्त्री, कल आना'।







चंदेरी का मनीष मल्होत्रा यानी कि विक्की (राजकुमार राव) लेडिस टेलर है जो मात्र 31 मिनट में लहंगा सिल देता है। उसके दो खास यार हैं, बिट्टू (अपारशक्ति खुराना) और जाना (अभिषेक बैनर्जी)।

विक्की की मुलाकात एक लड़की (श्रद्धा कपूर) से होती है जो उसे पसंद आती है। इससे बिट्टू को जलन होने लगती है। यह लड़की पूजा वाले दिनों में ही आती है, नाम नहीं बताती, उसके पास मोबाइल भी नहीं है।

बिट्टू को शक है कि यही वो स्त्री है जिसने चंदेरी के पुरुषों को परेशान कर रखा है। बिट्टू, विक्की, जाना और रूद्र (पंकज त्रिपाठी) इस रहस्य से परदा उठाते हैं।


और भी पढ़ें :