... वरना वांटेड में सलमान खान की हीरोइन होती इलियाना डीक्रूज

वो फिल्म थी जिसने के डूबते करियर को बचा लिया और इस फिल्म से सलमान का सितारा ऐसा चमका कि वे देखते ही देखते अन्य स्टार्स से बहुत आगे निकल गए। 18 सितम्बर 2017 को वांटेड को रिलीज हुए आठ वर्ष पूरे हुए हैं। इस मौके पर एक रोचक बात सामने आई है।

वांटेड में सलमान की हीरोइन थी आयशा टाकिया, लेकिन वे पहली पसंद नहीं थी। यह फिल्म को ऑफर की गई थी। इलियाना तब दक्षिण भारतीय फिल्मों में अपनी पहचान बना चुकी थी। जब 'वांटेड' के निर्माता बोनी कपूर ने इलियाना को फिल्म ऑफर की तो वे उत्साहित हो गई। हिंदी फिल्मों में सलमान के साथ अपना करियर शुरू करने से उम्दा बात भला और क्या हो सकती है।

उस समय इलियाना की उम्र थी 21 वर्ष और वे इतनी सोच-समझ नहीं रखती थी। पहले तो उन्होंने 'वांटेड' करने के लिए हामी भर दी। जब बोनी कपूर ने उन्हें फिल्म के लिए फोटोशूट करने के लिए कहा तो वे मना कर गईं। वे उस समय पढ़ाई कर रही थी और परीक्षा देकर अपनी शिक्षा पूरी करना चाहती थी। बाद में इलियाना की जगह आयशा ने ले ली।

इलियाना ने स्वीकारा कि उन्होंने उस सिचुएशन को अच्छे से हैंडल नहीं किया और वांटेड में अभिनय करने का अवसर गंवा दिया। यदि वे वांटेड से शुरुआत करती तो हो सकता था कि बॉलीवुड में ऊंचाइयों तक जा सकती थी।

बाद में इलियाना ने बर्फी फिल्म से बॉलीवुड में शुरुआत की जो 2012 में प्रदर्शित हुई थी।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :