543 करोड़ रु. की 2.0 आमिर-रितिक सहित 6 स्टार्स ने ठुकराई, नाम जान रह जाएंगे दंग

29 नवम्बर को '2.0' रिलीज हो रही है 2010 में प्रदर्शित फिल्म 'रोबोट' की कहानी को आगे बढ़ाएगी। इस फिल्म में दक्षिण भारत के मेगास्टार हैं। फिल्म का बजट 543 करोड़ रुपये है और इतनी महंगी फिल्म आज तक भारत में नहीं बनी है। फिल्म के वीएफएक्स पर खूब पैसा खर्च किया गया है। बताया जा रहा है कि फिल्म के क्लाइमैक्स पर ही तीस करोड़ रुपये की रकम खर्च की गई है। इतनी रकम में तो दो से तीन छोटे बजट की फिल्में बन सकती हैं।

इतनी बड़ी लागत वसूलना आसान बात नहीं है। रजनीकांत दक्षिण भारत में भले ही राज करते हों, लेकिन हिंदी भाषी क्षेत्र में उनकी पकड़ इतनी मजबूत नहीं है। इसलिए को फिल्म से जोड़ा गया है ताकि हिंदी भाषी क्षेत्रों में भी फिल्म के प्रति आकर्षण पैदा हो। कहने वाले कह रह हैं कि अक्षय कुमार ने 45 करोड़ रुपये फीस ली है। उन्हें इस फिल्म पर खासा समय खर्च करना पड़ा। इतने समय में तो वे दो फिल्मों की शूटिंग पूरी कर देते।

अक्षय का खास मेकअप किया गया है। मेकअप लगाने में तीन घंटे और उतारने में एक घंटा लगता था। अक्षय कुमार ने इस दौरान वे सारी फिल्में और टीवी शो देख डाले जो समय के अभाव में देख नहीं पा रहे थे। अक्षय के मेकअप और फीस से भी फिल्म का बजट बढ़ गया।

अक्षय कुमार फिल्म में विलेन के रूप में दिखाई देंगे और रजनीकांत के साथ पोस्टर में उन्हें भी जगह मिली है। आमतौर पर पोस्टर में सिर्फ रजनीकांत को ही दिखाया जाता है। इस भूमिका के लिए अक्षय कुमार पहली पसंद नहीं थे। अक्षय के पहले 6 कलाकारों से बात की गई थी, लेकिन सभी ने मना कर दिया।



कमल हासन
फिल्म के निर्देशक शंकर चाहते थे कि कमल हासन इस रोल को निभाए। दक्षिण भारत में कमल हासन और रजनीकांत की प्रतिस्पर्धा जगजाहिर है। कमल हासन अत्यंत प्रतिभाशाली कलाकार हैं, लेकिन लोकप्रियता के मामले में उनसे कम प्रतिभाशाली रजनीकांत कहीं आगे हैं। शायद इस बात का कमल को मलाल है। वे रजनीकांत के सामने खलनायक बनने का साहस नहीं जुटा पाए।

आमिर खान
इसके बाद के परफेक्शनिस्ट से बात की गई। आमिर ने भी इस रोल के लिए मना कर दिया। वे 'दंगल' में व्यस्त थे और इस रोल को नहीं करना चाहते थे।

विक्रम
आमिर के बाद दक्षिण भारत के कलाकार विक्रम से बात की गई, लेकिन उन्होंने भी फिल्म करने से इंकार कर दिया।



अर्नाल्ड श्वार्जनेगर
जब भारतीय कलाकारों की ना सुन कर निर्देशक शंकर परेशान हो गए तो उन्होंने हॉलीवुड सितारे अर्नाल्ड श्वार्जनेगर से बात की। अर्नाल्ड राजी तो हो गए, लेकिन उन्होंने इतनी रकम मांग ली कि उन्हें साइन करने का इरादा छोड़ दिया गया। एक बार फिर भारतीय कलाकारों से संपर्क किया गया। शंकर का झुकाव बॉलीवुड स्टार्स की ओर था।

रितिक रोशन
से बात की गई, लेकिन रितिक ने सोचा कि मैं तो खुद सुपरहीरो सीरिज की फिल्में करता हूं, खलनायक कैसे बनूंगा। खलनायक बन कर जोखिम उठाना उन्हें रास नहीं आया।

नील नितिन मुकेश
इसके बाद नील नितिन मुकेश के नाम पर विचार किया गया। नील की तो बांछे खिल गई, लेकिन फिर लगा कि वे रजनीकांत के मुकाबले कहीं नहीं ठहर पाएंगे इसलिए नील के नाम पर सहमति नहीं बन पाई।

अक्षय कुमार
हताश और परेशान शंकर ने अक्षय कुमार के आगे फिल्म का ऑफर रखा। अक्षय तुरंत राजी हो गए। वैसे भी अक्षय तेजी से काम करते हैं और उन्हें इस फिल्म में अभिनय करने पर कोई ऐतराज नहीं था। अक्षय के फिल्म से जुड़ने पर फिल्म के प्रति लोगों का आकर्षण बढ़ा है। कौन जाने गब्बर, मोगेम्बो या शाकाल जैसा अक्षय का किरदार डॉ. रिचर्ड भी लोकप्रिय हो जाए।


और भी पढ़ें :