शुरुआती दिनों में मुझे भी सेक्सिस्म का सामना करना पड़ा : विद्या बालन

जल्द ही रिलीज़ होने वाली फिल्म 'तुम्हारी सुलु' की एक्ट्रेस ने एक बातचीत के दौरान कहा कि उन्होंने भी अपने करियर की शुरुआत में सेक्सिस्म का सामना किया है।

विद्या ने शेयर किया कि फिल्म इंडस्ट्री मेरे लिए बहुत अच्छी रही है। मैं काफी मजबूत हुं। लेकिन मुझे लगता है कि यह वास्तव में सेक्सिस्ट हो सकता था। मेरे करियर के शुरुआत दौर में, मैंने लिंगभेद का सामना किया और मैं उस बारे में बहुत गुस्सा होती थी।

मुझे बता दिया जाता था कि इन डेट्स पर काम करना है लेकिन मुझसे पुछा नहीं जाता था। मेल एक्टर्स को हमेशा एक बड़ी वैन, एक बड़ा होटल मिलता था। मुझे फिल्म 'परिणीता' से इंडस्ट्री में काम करने का मौका मिला और मैं इससे काफी खुश हूं क्योंकि कोई भी मेरे द्वारा, मेरे ही लिए बनाए गए नियमों के बारे में पूछताछ नहीं करता था।

विद्या ने आगे बताया कि मुझे हमेशा यह बताया गया कि एक एक्ट्रेस का एक्टिंग जीवन ज्यादा ज्यादा नहीं होता है, इसलिए आपको यंग दिखना पड़ेगा, ग्लैमरस दिखना पड़ेगा। मैंने हमेशा अपने आप को कहा है कि नहीं, ऐसा नहीं है। मैं एक नारीवादी हूं, मैं पुरुष विरोधी नहीं हूं। दोनों में बड़ा अंतर है। मेरा मानना ​​है कि मुझे सांस लेने, जीवन जीने और मेरी ज़िंदगी मेरे हिसाब से जीने का पुरूषों के समान अधिकार है।

विद्या ने शेयर किया कि उनका सपना अगले 40 सालों तक एक्टिंग करना है क्योंकि वह जो काम करती हैं, उसे पसंद करती हैं। उनके एक एक्टर बनने का फैसला करने के बाद से कुछ भी नहीं बदला है। उनके पास निर्धारित लक्ष्य नहीं हैं, वे सिर्फ काम करना चाहती हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :