वी. शांताराम को गूगल ने किया याद

महान फिल्मकार वी. शांताराम को आज ने याद किया। 18 नवंबर को वी. शांताराम का जन्मदिन है। इस फिल्मकार के बारे में आज के युवा ज्यादा जानकारी नहीं रखते हैं, संभव है कि गूगल के बहाने उन्हें इस निर्माता-निर्देशक-अभिनेता के बारे में जानने का मौका मिलेगा। में शांताराम का फोटो, कैमरा और उनकी फिल्मों की तस्वीरें नजर आ रही हैं।

18 नवंबर 1901 को जन्मे शांताराम का पूरा नाम शांताराम राजाराम वणकुद्रे था। उन्होंने डा. कोटनीस की अमर कहानी (1946), झनक झनक पायल बाजे (1955), दो आंखें बारह हाथ (1957), नवरंग (1959), जल बिन मछली नृत्य बिन बिजली,
आदमी, पड़ोसी, गीत गाया पत्थरों ने जैसी शानदार फिल्में बनाईं।

शांताराम के बैनर का नाम प्रभात फिल्म कंपनी था। इस बैनर तले उन्होंने कई हिंदी और मराठी फिल्में बनाईं। शांताराम ने अपनी फिल्मों में मनोरंजन के साथ-साथ सामाजिक बुराइयों को भी उठाया। उनकी फिल्मों में नृत्य और संगीत पर विशेष ध्यान दिया जाता था।

शांताराम की गिनती भारत के महान फिल्मकारों में होती है जिन्होंने फिल्मों के जरिये समाज को जागृत करने की कोशिश की।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :