Widgets Magazine

अक्षय से टकरा कर नुकसान में रहेंगे शाहरुख खान


11 अगस्त वाले सप्ताह को साल के सबसे बेहतरीन सप्ताह में से माना जा रहा है। पांच दिनों का लंबा वीकेंड है। महीनों पहले नीरज पांडे ने इस सप्ताह को 'क्रेक' के जरिये बुक कर लिया था। 'क्रेक' शुरू ही नहीं हो पाई और यह बात फिल्म उद्योग में तेजी से फैल गई कि यह फिल्म अब 11 अगस्त को प्रदर्शित नहीं हो पाएगी। 
 
दूसरी ओर और इम्तियाज अली अपनी फिल्म को प्रदर्शित करने के लिए एक अच्छी तारीख ढूंढ रहे थे। उन्होंने इसी सप्ताह को चुना क्योंकि 'क्रेक' के हटने की खबर उन तक पहुंच चुकी थी। सूरज पंचोली द्वारा अभिनीत फिल्म भी इसी दिन रिलीज होने वाली थी, लेकिन बड़े सितारों को देख इस फिल्म की रिलीज को टाल दिया गया। 
 
शाहरुख और इम्तियाज खुश थे कि उनकी फिल्म (नाम अभी तय नहीं है, रहनुमा और द रिंग कहा जा रहा है) इस सप्ताह रिलीज होने वाली एकमात्र फिल्म है। दोनों असफलता से जूझ रहे हैं और सुरक्षित खेलना चाहते हैं। क्रेक के निर्माता नीरज पांडे की एक फिल्म 'टॉयलेट: एक प्रेम कथा' बन कर तैयार हो गई। इसे दो जून को रिलीज करने की बात कही गई। जून में एक और बड़ी फिल्म 'ट्यूबलाइट' भी रिलीज हो रही है। 
 
'टॉयलेट- एक प्रेम कथा' बड़ी फिल्म नहीं है। सिवाय के कोई परिचित चेहरा नहीं है। हीरोइन भूमि को ज्यादा दर्शक पहचानते भी नहीं हैं क्योंकि उनकी एकमात्र फिल्म 'जोर लगाके हईशा' ही रिलीज हुई है। इस फिल्म का विषय भी यूनिवर्सल नहीं माना जा सकता, हालांकि यह 'स्वच्छता अभियान' पर आधारित है। 
 
जून में रमजान माह भी है जब मुस्लिम फिल्मों से दूरी बना लेते हैं। सलमान खान की फिल्म के इंतजार में दर्शक दूसरी फिल्म देखना पसंद नहीं करते। नीरज ने अपनी इस वजह से अपनी फिल्म को आगे बढ़ाकर शाहरुख की फिल्म के सामने रिलीज करने का निर्णय ले लिया। 
 
ज्यादा फायदा 'टॉयलेट' को ही होना है। यह बजट के मामले में शाहरुख की फिल्म से बहुत सस्ती है। पांच दिन के वीकेंड का इसको फायदा मिलेगा। दो फिल्मों की टक्कर होने के कारण फिल्म को अच्छी पब्लिसिटी मिलेगी। अक्षय कुमार का सितारा इन दिनों खूब चमक भी रहा है। 'टॉयलेट' के पास को खोने को ज्यादा नहीं है। 
 
दूसरी ओर शाहरुख को एक सुपरहिट फिल्म की सख्त जरूरत है। उनकी फिल्म बड़े बजट की है। इसे बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा अच्छा प्रदर्शन करना होगा। दो फिल्मों के एक ही दिन प्रदर्शित होने से थिएटर बंट जाएंगे। शाहरुख को अक्षय की फिल्म के साथ स्क्रीन्स शेयर करना होंगे, लिहाजा किंग खान की फिल्म को 'टॉयलेट' की तुलना में ज्यादा नुकसान उठाना पड़ेगा। 
 
शाहरुख की पिछली फिल्मों की टक्कर देखी जाए तो वे नुकसान में ही रहे हैं। 'दिलवाले' का मामला 'बाजीराव मस्तानी' खराब कर दिया। 'काबिल' से कलेक्शन के मामले 'रईस' जरूर आगे रही है, लेकिन रईस का खासा बिजनेस प्रभावित हुआ है। 
 
फिल्म इंडस्ट्री के एक व्यक्ति ने वेबदुनिया को बताया कि शाहरुख की फिल्मों से अब दूसरे फिल्मकार टक्कर लेने लगे हैं और यही उनकी गिरती लोकप्रियता का सबूत है। 
 
फिलहाल तो अक्षय ने शाहरुख के मुंह का जायका बिगाड़ दिया है। 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine