बिहार में दिग्गज दलों पर भारी पड़ा 'नोटा'

पटना| पुनः संशोधित रविवार, 8 नवंबर 2015 (23:18 IST)
पटना। विधानसभा चुनाव में 'इनमें से कोई नहीं' यानी 'नोटा' का जादू राज्य के लोगों के सिर चढ़कर बोला और जनता ने आठवें नंबर पर 'नोटा' को चुनकर राजनीतिक पार्टियों को कड़ा संदेश देने की कोशिश की है।
विधानसभा चुनाव परिणाम में करीब 2.5 प्रतिशत यानि नौ लाख 47 हजार 185 मतदाताओं ने 'नोटा' का विकल्प चुनकर राजनीतिक दलों को बेहतर उम्मीदवार देने का इशारा किया है। 
 
'नोटा' ने कई बड़ी क्षेत्रीय दलों से भी बेहतर प्रदर्शन किया है। इनमें मुलायम सिंह यादव की पार्टी समाजवादी पार्टी (सपा), सुश्री मायावती, पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी की पार्टी और राजग की अहम घटक हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा, वाम दल शामिल हैं।
 
'नोटा' को जहां 947185 वोट मिले, वहीं आरएलएसपी को 976787, हम को 864856, बसपा को 785043 , भाकपा को 515656, समाजवादी पार्टी को 384872 राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को 185437 और झारखंड मुक्ति मोर्चा को 103940 वोट मिले हैं। (वार्ता)
 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :