BBChindi

महिलाओं में क्यों हो रहा सेक्स से मोहभंग?

पुनः संशोधित:?> गुरुवार, 14 सितम्बर 2017 (12:14 IST)
Widgets Magazine
का कहना है कि जो महिलाएं एक पार्टनर के साथ रह रही हैं उनमें मर्दों के मुक़ाबले सेक्स में दोगुनी दिलचस्पी कम हुई है। इसमें पाया गया कि वक़्त के साथ महिलाओं और पुरुषों में सेक्स को लेकर उत्साह कम होता है जबकि महिलाएं अक्सर लंबी रिलेशनशिप में सेक्स को लेकर उदासीन हो जाती हैं।
 
कुल मिलाकर ख़राब सेहत और भावनात्मक लगाव में कमी के कारण महिलाओं और पुरुषों में सेक्स के प्रति इच्छा कम हो रही है। इस सर्वे में क़रीब पांच हज़ार पुरुषों और 6,700 महिलाओं को शामिल किया गया था। यह स्टडी बीजेएम जर्नल में छपी है। ब्रिटेन के शोधकर्ताओं का कहना है कि सेक्स की इच्छा में लगातार गिरावट चिंता की बात है और इस पर गंभीरता से विचार किया जाना चाहिए। इस समस्या को निपटाने में ड्रग के इस्तेमाल पर रोक लगाने की ज़रूरत है।
 
दर्द और तकलीफ़
सेक्स थेरपिस्ट अमांडा मेजर का कहना है कि सेक्स में कम होती दिलचस्पी को हमेशा असामान्य नहीं कहा जा सकता है। यहां इसके कई कारण हैं कि पुरुष और महिलाओं की ज़रूरतें क्यों बदल रही हैं। उन्होंने कहा कि कई मामलों में यह सामान्य और स्वाभाविक होता है लेकिन दूसरे कारणों में दर्द और तकलीफ भी है।
 
सर्वे में कुल 15 फ़ीसदी पुरुष और 34 फ़ीसदी महिलाओं का कहना है कि सेक्स में उनकी दिलचस्पी नहीं रही। पुरुषों में 35-44 की उम्र में सेक्स के प्रति दिलचस्पी सबसे कम थी। महिलाओं में 55 और 64 की उम्र में सेक्स को लेकर दिलचस्पी में गिरावट सबसे उच्च स्तर पर थी।
 
यूनिवर्सिटी ऑफ साउथंप्टन और यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के रिसर्चरों का कहना है कि इसका कोई सबूत नहीं है कि मासिक धर्म बंद होने के कारण महिलाओं में सेक्स के प्रति दिलचस्पी कम होती है। हालांकि यह बात सामने आई है कि घर में छोटे बच्चे होने के कारण भी महिलाओं में सेक्स की इच्छा कम हो रही है। इसके साथ ही ख़राब सेहत, बातचीत में गर्मजोशी की कमी और भावनात्मक लगाव में उदासीनता के कारण महिलाओं और पुरुषों में सेक्स की इच्छा कम हो रही है।
 
फिर से सेक्स की इच्छा जगाने के पांच टिप्स
इस पर बातचीत शुरुआती दौर में ही करनी चाहिए। इसकी उपेक्षा से दूसरी समस्याएं भी घर कर सकती हैं। इस वजह से आप ख़ुद को चिढ़े हुए भी महसूस कर सकते हैं। आपको इन समस्याओं पर खुलकर बात करनी चाहिए। अंतरंग होने के दूसरे तरीक़ों को भी आजमाना चाहिए। एक दूसरे का हाथ पकड़ना, एक दूसरे से बातचीत करना और आलिंगन को ज़्यादा तवज्जो देनी चाहिए।
 
अपनी पार्टनर का रिस्पेक्ट करना और उसकी अनुभूति का ख़्याल रखना ज़रूरी है। इसमें आपको सेक्स थेरपिस्ट से भी बातचीत करनी चाहिए। इसके साथ ही रिलेशनशिप काउंसलर की भी मदद ले सकते हैं। कई ऐसे संबंध हैं जिनमें बिना यौन संबंध के रिश्तों गर्मजोशी बना रहती है। ऐसे में इस मामले में क्रोध से ज़्यादा रचनात्मकता पर ध्यान देना चाहिए।
 
स्टडी में यह बात भी सामने आई है कि महिलाएं एक स्तर पर अपनी यौन इच्छा को अपने पार्टनर के साथ साझा नहीं करती हैं। वे अपनी पंसद और नापसंद भी नहीं ज़ाहिर करती हैं। इस वजह से भी सेक्स की इच्छा में गिरावट देखी जा रही है।
BBChindi