'शहीद की तरह मरना चाहता था ओसामा बिन लादेन का 12 साल का पोता'

पुनः संशोधित सोमवार, 1 जनवरी 2018 (12:29 IST)
(बीबीसी मॉनिटरिंग)
चरमपंथी संगठन अल कायदा के एक जिहादी समर्थक ने के 12 साल के पोते ओसामा हमजा बिन लादेन की हत्या की सूचना दी है।
अल कायदा के ऑनलाइन समर्थकों में इससे जुड़े एक पत्र को शेयर किया जा रहा है जिसे ओसामा बिन लादेन के बेटे हमज़ा बिन लादेन द्वारा लिखा हुआ बताया जा रहा है।

एक हाई-प्रोफ़ाइल ऑन-लाइन जिहादी अल-वतीक़ बिल्लाह ने 31 दिसंबर को मैसेज़िंग ऐप टेलिग्राम पर ओसामा बिन लादेन के पोते की मौत की ख़बर दी थी।

इसके बाद से हाई प्रोफ़ाइल अल-क़ायदा इनसाइडर शायबत-अल-हुकमा समेत कई अन्य प्रमुख अल-क़ायदा समर्थकों ने भी टेलिग्राम पर ये ख़बर शेयर की है।
अल-बतीक ने ओसामा बिन लादेन के पोते की हत्या कैसे हुई और कहां हुई, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी। लेकिन एक दूसरे अल-क़ायदा समर्थक अबु-खल्लाद अल-मुहनदीस ने कहा है कि इस बच्चे की हत्या रमजान के महीने हुई थी जो 26 मई से लेकर 24 जून तक मनाया गया था।

अबु-खल्लाद अल-मुहनदीस ने इस बच्चे की मां और परिवार को लिखा गया एक पत्र भी जारी किया है जिसे कथित तौर पर हमज़ा बिन लादेन द्वारा लिखा गया बताया जा रहा है।
इस पत्र में हमज़ा बिन लादेन ने कहा है कि ये बच्चा हमेशा एक शहीद की तरह मरना चाहता था और साल 2011 में ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद काफ़ी दुखी था।

हमज़ा बिन लादेन ने कथित तौर पर अपने भतीजों को भी अपने ओसामा बिन लादेन, ओसामा हमज़ा बिन लादेन और अपने भाइयों की हत्या का बदला लेने के लिए जिहाद छेड़ने की अपील की है।

अल-वतीक़ लंबे समय से एक ऑनलाइन जेहादी है और अल-क़ायदा से जुड़ी हुई इसकी जानकारियों को भरोसे लायक माना जाता है।
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

चूहों के कारण खतरे में पड़े कोरल रीफ

चूहों के कारण खतरे में पड़े कोरल रीफ
दिखने में खूबसूरत और समुद्री इकोसिस्टम में संतुलन बनाए रखनी वाले कोरल रीफ यानी मूंगा ...

बेटियों को नहीं पढ़ाने की कीमत 30,000 अरब डॉलर

बेटियों को नहीं पढ़ाने की कीमत 30,000 अरब डॉलर
दुनिया के कई सारे हिस्सों में बेटियों को स्कूल नहीं भेजा जाता। वर्ल्ड बैंक का कहना है कि ...

बेहतर कल के लिए आज परिवार नियोजन

बेहतर कल के लिए आज परिवार नियोजन
अनियंत्रित गति से बढ़ रही जनसंख्या देश के विकास को बाधित करने के साथ ही हमारे आम जनजीवन को ...

मछली या सी-फ़ूड खाने से पहले ज़रा रुकिए

मछली या सी-फ़ूड खाने से पहले ज़रा रुकिए
अगली बार जब आप किसी रेस्टोरेंट में जाएं और वहां मछली या कोई और सी-फ़ूड ऑर्डर करें तो इस ...

आरएसएस से विपक्षियों का खौफ कितना वाजिब?

आरएसएस से विपक्षियों का खौफ कितना वाजिब?
साल 2014 में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से ही विपक्षी दलों समेत कई आलोचक राष्ट्रीय ...

ग्रेटर नोएडा में ध्वस्त इमारतों से एक और शव निकाला, मृतक ...

ग्रेटर नोएडा में ध्वस्त इमारतों से एक और शव निकाला, मृतक संख्या बढ़कर 9
नोएडा। ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में दो इमारतों के ढहने के बाद राहत और बचाव कार्य अभी ...

बड़ा खुलासा : पेटीएम कैश बैक स्कीम में करोड़ों का घोटाला, ...

बड़ा खुलासा : पेटीएम कैश बैक स्कीम में करोड़ों का घोटाला, एसटीएफ ने चार को किया गिरफ्तार
लखनऊ। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की साइबर अपराध शाखा ने बुधवार को पेटीएम की ...

अस्पतालों से अदालत का सवाल- नर्सों को 20 हजार रु वेतन क्यों ...

अस्पतालों से अदालत का सवाल- नर्सों को 20 हजार रु वेतन क्यों नहीं देना चाहते?
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली के 350 से अधिक निजी अस्पतालों एवं नर्सिंग होमों ...