राशि फलादेश
तुला - विवाह और दांपत्य जीवन
इस राशि की स्त्री को पति तथा पुरुष को पत्नी भाग्यशाली मिलती है। स्त्री के कहने में चलने से इनका जीवन सुखी बन सकता है। स्वप्न अधिक आते हैं। एक संतान भाग्यशाली होती है। तुला राशि वाले को एक ऐसा आश्वस्त करने वाले जीवनसाथी की आवश्यकता होती है, जो उसकी प्रकृति और योजनाओं को समझ सके। तुला राशि वाला अपने जीवनसाथी में सुधार लाने का प्रयत्न करते हैं। इनके एकाधिक विवाह तथा वियोगों की संभावनाएं भी रहती हैं। इनकी मिथुन तथा कुंभ राशि वालों से अधिक तथा सिंह राशि वालों से कम पटती है। इनके जीवन में विवाह का बहुत महत्व होता है। इस राशि वालों का विवाह प्रायः छोटी आयु में हो जाया करता है। सामाजिक बंधनों के कारण इन्हें प्रेम संबंधों में प्रायः असफलता ही मिलती है। तुला राशि का स्वामी शुक्र है। इस राशि में जन्म लेने वाला व्यक्ति सहयोग, प्रेम, विवाह, साझेदारी तथा जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में संतुलित दृष्टिकोण अपनाने का प्रयत्न करता है। फिर भी उसके सहायक कम ही होते हैं।
राशि फलादेश