यदि आपकी राशि सिंह है तो करें ये जरूरी उपाय

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'| पुनः संशोधित शनिवार, 9 सितम्बर 2017 (10:42 IST)
Widgets Magazine
अग्नि तत्व प्रधान सिंह राशि के कारक ग्रह सूर्य है। इसके कारक ग्रह सूर्य और मंगल माने गए हैं। सिंह लग्न की बाधक राशि कुंभ तथा बाधक ग्रह शनि है। लाल किताब अनुसार पांचवें भाव में सिंह राशि मानी गई है जिसके सूर्य का पक्का घर पहला माना जाता है। यदि आप सिंह राशि के जातक हैं तो आपके लिए यहाँ लाल किताब अनुसार सामान्य सलाह दी जा रही है।
 
अशुभ की निशानी
*मुंह में बार-बार बलगम का आना।
*सोना खो जाना या चोरी हो जाना।
*शरीर में अकड़न का बने रहना।
*पिता या संतान को कष्ट होना।
*अंगों की ताकत खत्म होना, रक्तचाप, रीढ़ का रोग, धड़कन तेज होना, मन में बेचैनी और भय, एनिमिया, हृदय रोग, खून के थक्के जमना जैसी बीमारियां होना आदि उपरोक्त सभी सूर्य के अशुभ होने की निशानी है।

वीडियो देखने के लिए क्लिक करें...
 
 

 
सावधानी
*पिता का सम्मान करें।
*किसी से मुफ्त में कुछ न लें।
*शराब और मांस का सेवन न करें।
*पेट साफ रखें और व्यायाम करें।
 
उपाय
*मुँह में मीठा डालकर ऊपर से पानी पीकर ही घर से निकले। 
*दादी मां से आशीर्वाद लें।
*आग को दूध से बुझाएं।
*रात को दो रोटियां आग में जलाएं।
*भगववान विष्णु की उपासना। 
*सूर्य को अर्ध्य देना।
*रविवार का व्रत रखना।
*थोड़ा थोड़ा गुड़ खाते रहें।
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine