0

भगवान श्री‍हरि विष्णु के विविध मंत्र, देंगे धन-वैभव और संपन्नता...

बुधवार,दिसंबर 13, 2017
0
1
प्रभु श्रीराम के भक्त हनुमानजी की उपासना से जीवन के सारे संकट मिट जाते है। माना जाता है कि हनुमानजी एक ऐसे देवता है जो ...
1
2
हमारे प्राचीन ग्रंथों में कई ऐसे सरल उपाय दिए गए हैं, जो रोगों से छुटकारा पाने के लिए लाभदायी हैं। वर्तमान भागदौड़भरे ...
2
3
बजरंग बली कलयुग के शीघ्र ही प्रसन्न होने वाले देवता हैं। प्रभु श्रीराम और हनुमानजी का मात्र स्मरण करने से ही उनकी कृपा ...
3
4
प्रतिदिन राशि के अनुसार मंत्र जपने से मां शारदा सुख, संपत्ति, विद्या, बुद्धि, यश, कीर्ति, पराक्रम, प्रतिभा और विलक्षण ...
4
4
5
कर्ज लेना किसी को अच्छा नहीं लगता लेकिन मजबूरी के चलते कई बार ऐसी स्थिति बन जाती है कि कर्ज लेना पड़ता है। आइए कुछ ...
5
6
केतु जब अशुभ फल देता है, तो जातक के पैरों के नाखून झड़ने लगते हैं, मूत्र संबंधी या जोड़ों की बीमारी हो जाती है और संतान ...
6
7
पुरातन धार्मिक एवं वैदिक शास्त्रों में हर दिन की शुरुआत शुभ मंत्रों के स्मरण से होती है। यदि कोई भी व्यक्ति इस मंत्र ...
7
8
श्री शनिदेव सूर्य देव के पुत्र तथा मृत्युलोक के ऐसे स्वामी (अधिपति) हैं, जो समय आने पर व्यक्ति के अच्‍छे-बुरे कर्मों के ...
8
8
9
राहु जब अशुभ फल देता है, तो जातक के हाथों के नाखून झड़ने लगते हैं, शत्रुओं की वृद्धि होने लगती है एवं दिमाग काम नहीं ...
9
10
देवगुरु बृहस्पति को पुष्य नक्षत्र का अधिष्ठाता देवता माना गया है। पुष्य नक्षत्र का स्वभाव शुभ होता है। अत: यह नक्षत्र ...
10
11
सुदर्शन चक्र के बारे में शास्त्रों में वर्णित है कि वह किसी भी दिशा अथवा किसी भी लोक में जाकर वांछित सामग्री या व्यक्ति ...
11
12
गुरु-पुष्य के शुभ संयोग वाले दिन अपने पूजा स्थान में पूर्व दिशा में मुंह करके बैठ जाएं।
12
13
सोमवार को इन चमत्कारी मंत्रों का जप करना विलक्षण सिद्धि व मनचाहे लाभ देने वाला होता है-
13
14
धार्मिक ग्रंथों में मार्गशीर्ष महीने की पूर्णिमा का बड़ा ही महत्व बताया गया है। मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन भगवान ...
14
15
वैसे तो हर मनुष्य को हमेशा ही दत्त भगवान का स्मरण करना चाहिए। विशेष कर अमावस्या और पूर्णिमा के दिनों तो दत्त नाम की ...
15
16
शनि जब अशुभ फल देने लगता है, तो जातक को घर की परेशानी आती है। शनि अशुभ होने से घर गिरने की स्थिति भी आ सकती है...
16
17
शुक्र जब अशुभ फल देता है, तो जातक का अंगूठा बिना किसी बीमारी के बेकार हो जाता है।
17
18
शुक्ल पक्ष के मंगलवार को चांदी का एक टुकड़ा लेकर उसे जमीन में गड्ढा खोदकर रख दें। अब उस पर पानी डालें और थोड़ी मिट्टी ...
18
19
लाल वस्त्र में मसूर दाल, रक्त चंदन, रक्त पुष्प, मिष्ठान्न एवं द्रव्य लपेटकर नदी में प्रवाहित करने से मंगलजनित अमंगल दूर ...
19