शीतला माता व्रत : सप्तमी और अष्टमी का पवित्र महत्व


शीतला सप्तमी, शीतलाष्टमी और मां शीतला की महत्ता का उल्लेख स्कन्द पुराण में बताया गया है। यह दिन देवी शीतला को समर्पित है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, शीतला माता चेचक, खसरा आदि की देवी के रूप में पूजी जाती है। इन्हें शक्ति के दो स्वरुप, देवी दुर्गा और देवी पार्वती के अवतार के रूप में जाना जाता है। इस दिन लोग मां शीतला का पूजन का करते हैं, ताकि उनके बच्चे और परिवार वाले इस तरह की बीमारियों से बचे रह सके।


कुछ लोग इसे सप्तमी के दिन मनाते हैं और कुछ प्रांतों में यह पर्व अष्टमी के दिन मनाया जाता है। दोनों ही दिन माता शीतला को समर्पित हैं। महत्वपूर्ण यह है कि माता शीतला का पूजन किया जाए। प्रचलित मान्यता अनुसार दोनों ही दिन पूजन से मां का आशीष मिलता है।

शीतला माता के नाम से ही स्पष्ट होता है, मां किसी भी समस्या से शीतल राहत देती हैं। यदि किसी बच्चे को त्वचा संबंधी या अन्य गंभीर बीमारी हो जाए तो उन्हें मां शीतला का पूजन करना चाहिए इससे बीमारी में जल्द राहत मिलती है। शीतला अष्टमी के दिन मां शीतला का विधिवत पूजन करने से घर में कोई व्याधि नहीं रहती और परिवार निरोग रहता है।

मां शीतला हाथों में कलश, सूप, मार्जन(झाडू) तथा नीम के पत्ते धारण किए होती हैं तथा गर्दभ की सवारी किए यह अभय मुद्रा में विराजमान हैं।
शीतला माता के संग ज्वरासुर ज्वर का दैत्य, हैजे की देवी, चौंसठ रोग, घंटकर्ण, त्वचा रोग के देवता एवं रक्तवती देवी विराजमान होती हैं। इनके कलश में दाल के दानों के रूप में विषाणु नाशक, रोगाणु नाशक,
शीतल स्वास्थ्यवर्धक जल होता है। स्कन्द पुराण में इनकी अर्चना स्तोत्र को शीतलाष्टक के नाम से व्यक्त किया गया है। शीतलाष्टक स्तोत्र की रचना स्वयं भगवान शिव जी ने लोक कल्याण हेतु की थी।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

अगर आपके पर्स में भी हैं यह 7 चीजें तो तुरंत बाहर निकालें.. ...

अगर आपके पर्स में भी हैं यह 7 चीजें तो तुरंत बाहर निकालें.. यह रोक‍ती हैं धन को...
पर्स में रखी कुछ चीजें ऐसी होती हैं जो धन के आगमन को रोकती हैं। अगर आपके पर्स में भी रखी ...

ज्योतिष के अनुसार शनि की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते ...

ज्योतिष के अनुसार शनि की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते होंगे...
पौराणिक कथाओं में नौ ग्रह गिने जाते हैं, सूर्य, चन्द्रमा, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि, ...

ज्योतिष के अनुसार बृहस्पति ग्रह की खास विशेषताएं, जो आप ...

ज्योतिष के अनुसार बृहस्पति ग्रह की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते होंगे...
ज्योतिष के अनुसार हर ग्रह की परिभाषा अलग है। भारतीय ज्योतिष और पौराणिक कथाओं में नौ ग्रह ...

जून माह विशेष : ग्रहों के राशि परिवर्तन का आपकी राशि पर ...

जून माह विशेष : ग्रहों के राशि परिवर्तन का आपकी राशि पर क्या होगा असर
जून माह में कई ग्रहों ने अपने घर बदले हैं और कुछ और ग्रह राशि परिवर्तन करेंगे। आइए जानें ...

सिर्फ 2 पंक्तियों में जानें कि जून माह में ग्रह बदलने का ...

सिर्फ 2 पंक्तियों में जानें कि जून माह में ग्रह बदलने का किस राशि को मिलेगा लाभ
जून महीने में ग्रहों के परिवर्तन का सभी 12 राशियों पर क्या असर होगा आइए जानते हैं...

आ रहा है सबसे छोटा रवि-पुष्य नक्षत्र, आजमाएं धन-समृद्धि ...

आ रहा है सबसे छोटा रवि-पुष्य नक्षत्र, आजमाएं धन-समृद्धि पाने का यह अचूक उपाय
17 जून 2018, रविवार को सबसे छोटा रवि-पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग बन रहा है। पुष्य नक्षत्र ...

रवि-पुष्य नक्षत्र को विशेष लाभदायी बनाना है तो खरीदें ...

रवि-पुष्य नक्षत्र को विशेष लाभदायी बनाना है तो खरीदें सोने-चांदी के आभूषण, पढ़ें ये अचूक मंत्र
पौराणिक शास्त्रों के अनुसार रवि-पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग समस्त शुभ कार्यों के शुभारंभ ...

ज्योतिष के अनुसार सूर्य की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते ...

ज्योतिष के अनुसार सूर्य की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते होंगे...
ज्योतिष के अनुसार ग्रह की परिभाषा अलग है। भारतीय ज्योतिष और पौराणिक कथाओं में नौ ग्रह ...

सावधान... 28 जून से मंगल होगा वक्री, क्या होगी 12 राशियों ...

सावधान... 28 जून से मंगल होगा वक्री, क्या होगी 12 राशियों की स्थिति
मंगल जब उच्च का होकर वक्री होता है, तो जहां उच्च का फल देता आया है, अब वहां नीच का फल ...

18 से 24 जून 2018 : साप्ताहिक राशिफल

18 से 24 जून 2018 : साप्ताहिक राशिफल
जिसे आप प्यार करते हैं, उसके करीब जाने का मौका मिल सकता है। किसी की बुराई करना आसान है ...