परीक्षा के डर पर कैसे विजय प्राप्त करें, पढ़ें अपनी राशि...

exam

* 12 राशियों के जातक ऐसे दूर करें अपना एक्जाम-फोबिया
मेष : इस राशि के युवा बहुत एंबिशियस और एडवेंचर पसंद करने वाले होते हैं। लेकिन अधीर स्वभाव के होते हैं। स्कूली स्टूडेंट्स हायर एजूकेशन के फील्ड में बड़ी सक्सेस पाने की बातें करते देखे-सुने जा सकते हैं। कहने का अर्थ यह है कि ये प्रेजेंट सिचुएशन पर ध्यान नहीं देते। इनकी राशि का स्वामी मार्स यानी मंगल है, लेकिन इनकी अभिरुचियों को डिसाइड करने में बृहस्पति की अहम भूमिका होती है।

वृषभ : इस राशि का जातक बेहद टैलेंटेड, स्टूडियस और क्रिएटिव होते हैं। आपको अच्छे टीचर और गाइड की जरूरत है, जो कि प्यार से समझाए। राशि-स्वामी शुक्र है, लेकिन इंट्रैस्ट का आधार मंगल ही तय करता है।

मिथुन : इस राशि के युवा की बुद्धि काफी तेज होती है। ये सबजेक्ट को जल्द ही समझ लेते हैं। मन बेहद नॉटी है। स्टडी के लिए टिककर बैठने की आदत नहीं है। ज्यादा मेहनत के बिना ही बहुत अच्छे मार्क्स ले आएंगे, यह ओवर कॉन्फिडेन्स आगे चलकर नुकसान दे सकता है। राशि-स्वामी बुध है और अभिरुचियों का कारक शुक्र है। स्टडी के लिए एक अच्छे फ्रेंड की जरूरत है।

कर्क : इस राशि के युवा टैलेंटेड एवं लेबोरियस होते हैं। लेकिन मन में वैचारिक अस्थिरता बनी रहती है। कभी बहुत कॉन्फिडेंस से भरे हुए होते हैं तो कभी नेगेटिव थिंकिंग से परेशान रहते हैं। इसलिए मन को कूल बनाए रखने की जरूरत है। फ्रेंड्स का ग्रुप बनाकर स्टडी करते हुए समय का सही उपयोग हो, इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें। राशि-स्वामी चंद्रमा है, जबकि अभिरुचियां बुध तय करता है।

सिंह : हाइली एंबिशियस, रिजिड, बोल्ड विचारों के, लेकिन डिसिप्लीन वाले होते हैं। इस क्वालिटी को यदि स्टडी के लिए भी लागू करें तो अच्छी सक्सेस प्राप्त कर सकते हैं। खुद को औरों से बेस्ट समझने एवं जलेसी की बुरी आदत से बचें। राशि-स्वामी सूर्य व अभिरुचियों का स्वामी चंद्रमा है।

कन्या : बुद्धि अच्छी है। मेहनत भी अधिक करते हैं, लेकिन नेगेटिव विचारों की अधिकता हुई तो ऐन वक्त पर सेल्फ कॉन्फिडेंस गिर सकता है। सबजेक्ट को याद रखने की क्षमता होते हुए भी कभी-कभी मुश्किल में पड़ जाते हैं। राशि स्वामी बुध लेकिन अभिरुचियों को सूर्य डिसाइड करता है।

तुला : चतुर व चुस्त हैं लेकिन स्टडी के प्रति लापरवाह हो सकते हैं। मन को स्थिर रखने का प्रयास करें। किसी भी कार्य को मजबूती से व लगातार करने पर ही अच्छी सफलता मिल सकती है। राशि-स्वामी शुक्र व अभिरुचियों के स्वामी बुध है।


वृश्चिक : बहुत इमोशनल व नॉटी नैचर के होते हैं। मन में तरह-तरह के विचार लगातार आते-जाते रहते हैं। टीवी और कम्प्यूटर का अत्यंत सीमित प्रयोग करें, अन्यथा स्टडी में नुकसान उठाना पड़ सकता है। दिल-दिमाग साफ है लेकिन अपनी रोमांटिक तबियत पर काबू रखिए। राशि-स्वामी मंगल व अभिरुचियां शुक्र से जु़ड़ी हुई हैं।

धनु : टैलेंटेड, आइडल, फ्रेंक, प्रकृति प्रेमी व खुले विचारों के हैं। स्टडी में मन न लगता हो, तो एक बार ठीक से सोच-विचार कर लें कि बिना पढ़े-लिखे व्यक्ति के लिए आज की सोसाइटी में क्या स्थान है। पढ़ने की ललक जग गई तो किसी भी गोल को हासिल करने की क्षमता आपके अंदर है। राशि-स्वामी बृहस्पति एवं अभिरुचियां मंगल व शनि की हैं।

मकर : मेहनती हैं लेकिन नॉटी होने की वजह से पढ़ाना-समझाना कठिन है। नए सबजेक्ट को समझने का इंटरैस्ट पैदा करना होगा। स्वयं पर ट्रस्ट करना होगा। शंकालु स्वभाव हो, तो सुधार करें। क्रोध से बचें। आपकी राशि-स्वामी शनि व अभिरुचि बृहस्पति डिसाइड करता है।

कुंभ : इस राशि के लोग शुरू में पढ़ने-लिखने से जी चुराते हैं। स्टडी के लिए पेरेंट्स पर अधिक डिपेंड रहते हैं। फिर भी अच्छे मार्क्स पाने की चाह को अपना प्रेस्टिज पॉइंट बना लेते हैं। ये युवा समय के साथ बदल भी जाते हैं। कंजर्वेटिव नेचर को छोड़ इन्हें अपना पूरा ध्यान स्टडी पर लगाना चाहिए। आपकी राशि पर शनि का विशेष प्रभाव रहता है। अभिरुचियों को तय करने में गुरु की भूमिका भी हुआ करती है।

मीन : समय बर्बाद करने की आदत को सुधार लें। अपेक्षित एक्सपेक्टेड रिजल्ट पाने के लिए कड़ी मेहनत करें। याद रखें कि सक्सेस का कोई शार्ट-कट नहीं होता। राशि-स्वामी बृहस्पति एवं अभिरुचियों का स्वामी शनि है।



और भी पढ़ें :