सूर्य देव का तुला राशि में प्रवेश, जानिए आप पर प्रभाव...


सूर्य ने 17 अक्टूबर, 2017 को तुला राशि में गोचर किया है। इस गोचर के फलस्वरूप आपके जीवन में परिवर्तन संभव हैं। आइए जानते हैं भिन्न-भिन्न राशियों पर सूर्य तुला राशि में जाने का प्रभाव, आचार्य पंडित भवानी शंकर वैदिक द्वारा...

अक्टूबर 17, 2017 को सूर्य ने तुला राशि में प्रवेश किया है। कैसा रहेगा सूर्य का नीच राशि में जाना? क्या होगा इसका देश, दुनिया और आपकी राशि पर असर? इस गोचर के कारण किसके जीवन में आएगी शुभता और किसको हो सकती है परेशानी?

ज्योतिष के अनुसार सूर्य का नीच का होना उसके शुभ प्रभाव में कमी और अशुभ प्रभाव में अधिकता करता है, परन्तु सब के लिए नकारात्मक प्रभाव ही मिलेगा ऐसा नहीं है। कुछ राशि वालों को इससे शुभ फलों की भी प्राप्ति होगी। सूर्य का सम्बन्ध राज सत्ता, सरकार, सरकारी कामों, मान सम्मान और आरोग्यता से है। अत: इसकी नीचता का असर इन क्षेत्रों में विशेषकर रहेगा।

सूर्य तुला राशि में गोचर का आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा आइए जानते हैं.. ..

मेष: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

सूर्य के तुला राशि में गोचर के दौरान आपके कामों में कुछ रुकावटें आ सकती हैं। अत: यदि आप कोई बड़ा या महत्त्वपूर्ण काम करने जा रहे हैं तो यथासम्भव उस काम को एक महीने बाद ही किसी अच्छे मुहूर्त में करें। सूर्य के तुला में गोचर के समय आपका सप्तम भाव प्रभावित रहेगा, अत: अपने व्यवसायिक पार्टनर या जीवनसाथी का विशेष ख़याल रखें। कोशिश करें कि सूर्य के तुला राशि में गोचर 2017 के दौरान वह आपसे रुष्ट न हों।
वृषभ: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

वैसे तो सूर्य के तुला में गोचर के दौरान आपका समय अच्छा रहेगा। सोच हुए कई कार्य पूर्ण हो जाएंगे। आर्थिक मामलों में आपको अच्छे परिणाम मिल सकते हैं। यदि किसी से कुछ उधार ले रखा है तो कोशिश करने पर कर्ज मुक्ति हो सकती है। फिर भी माता के स्वास्थ्य का ख़याल रखना ज़रूरी होगा, अपने घरेलू मामलों को गंभीरता से सुलझाना होगा।

मिथुन: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017
समय आपको मिला जुला परिणाम देने वाला रहेगा। इस समय आप अपने कामों को काफ़ी हद तक सही अंजाम दे पाएंगे। इस समय पारिवारिक मामलों को हल्के में लेना ठीक नहीं रहेगा। विशेषकर पुत्र या जिस व्यक्ति से आपको दिली लगाव हैं उसे बिल्कुल रुष्ट न करें। बेहतर होगा कि इस दौरान तनाव के मूल स्रोत को जानकर उसे दूर करने की कोशिश करें। यकीन मानें इस सूर्य के तुला में गोचर 2017 में आपको सफलता भी मिलेगी।
कर्क: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

सूर्य के तुला में गोचर 2017 में आपको बड़ी ही सावधानी से काम करना होगा। विशेषकर अपने विचारों को पूरी तरह से शुद्ध रखें। नकारात्मक विचारों से लम्बी दूरी बनाएं और अपने घरेलू जीवन पर पहले से अधिक ध्यान दें। ऐसे में यदि आप सूर्य उपासना या सूर्य मंत्रों का जप करेंगे तो आपको शुभ फलों की प्राप्ति भी होगी। ऐसा करने से आर्थिक मामलों में राहत मिलेगी और विवादों में विजय मिलेगी।
सिंह: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

इस दौरान आपका राशि स्वामी नीच अवस्था में रहेगा। अत: अपने स्वास्थ्य का ख़याल रखना ज़रूरी होगा। ऐसे में सूर्य भगवान को सिंदूर मिलाकर जल देते रहें। ऐसा करने से आपमें नवीन ऊर्जा संचारित होगी। मित्रों और बंधुओं से सहायता मिलेगी। कोई ऐसा काम जिसे करने के लिए आप बड़े दिनों से प्रयासरत थे वह सूर्य के तुला में गोचर में पूरा हो सकता है। साथ ही आपकी आमदनी बढ़ने के योग भी बन रहे हैं।
कन्या: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

आपके लिए सूर्य व्ययेश है अत: सूर्य के तुला राशि में गोचर 2017 के दौरान खर्चे कम होने चाहिए लेकिन कोशिश करें कि फिलहाल कोई बड़ा निवेश न करें। हालांकि रुकावटों के बाद ही सही लेकिन आपके काम बनेंगे। पुरानी समस्याएं कम होंगी। इस समय आपको अप्रिय सम्भाषण से बचना होगा। यदि ऐसा करने में आप कामयाब रहे तो सूर्य के तुला राशि में गोचर के दौरान बिगड़े संबंधों में सुधार होगा।
तुला: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

इस समय आपको लाभ मिलने के योग तो मज़बूत होंगे लेकिन साथ ही आपके स्वास्थ्य में कुछ कमज़ोरी रह सकती है। इस समय बुखार आने का भय रहेगा। इस समय आपको बहुत सम्भल के चलना होगा। बेहतर होगा फिलहाल कोई भी नई या बड़ी जिम्मेदारी लेने से बचें। इस समय आपको कोई भी जोखिम भरा काम करने से बचना होगा। सूर्य के तुला राशि में गोचर में कोई भी ऐसा काम न करें जिससे आपके मान-सम्मान को ठेस पहुंचें।
वृश्चिक: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

इस गोचर में आपके कर्म स्थान का स्वामी सूर्य नीच का रहेगा अत: कामों में रुकावटों का आना स्वाभाविक है। हालांकि सूर्य के तुला राशि में गोचर में यदि आपने काम को पूरी मेहनत और निष्ठा के साथ किया तो उसमें काफी हद तक सफल रहेंगे। इस समय विदेश से जुड़े मामलों में भी सफलता मिल सकती है। जीवन के अन्य पहलुओं में भी कुछ विसंगतियां रह सकती हैं। इस समय व्यर्थ के विवादों और कानूनी मामलों में उलझने से बचें। नींद में भी कुछ व्यवधान रह सकता है।
धनु: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

सूर्य का तुला में लाभ भाव में गोचर होगा अत: सूर्य आपको लाभ देगा लेकिन इस समय आपको कुछ अनैतिक प्रलोभन भी मिल सकते हैं। कोशिश करें कि लालच के चक्कर में कुछ ऐसा न करें जिससे आपके मान-सम्मान को क्षति पहुंचे। इस समय पिता के स्वास्थ्य का ख़याल रखना बहुत ज़रूरी होगा।
इस समय दूर की यात्राएं या फिर धार्मिक यात्राओं के योग बन रहे हैं। आर्थिक मामलों में जल्दबाजी ठीक नहीं रहेगी।
मकर: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

सूर्य आपके दशम भाव में रहेगा अत: निसंदेह आपके कुछ काम बनेंगे लेकिन अपने काम को करने या कराने के लिए कुछ ऐसा न करें जिससे आपके मान सम्मान को ठेस पहुंचे। इस समय जल्दबाजी में या भावुक होकर कोई भी निर्णय लेने से बचें। यदि आप इन सावधानियों को अपना सके तो निश्चित
है कि कर्मों का फल मिलेगा और आपको सुख-संपत्ति की प्राप्ति होगी। परिवार में सुख, शांति भी बनी रहेगी। फिर भी स्वास्थ्य का ख़याल रखना ज़रूरी होगा।

कुंभ: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

आप व्यापार-व्यवसाय के सिलसिले में यात्राएं कर सकते हैं। यदि आप विदेश यात्राओं के लिए प्रयासरत हैं तो गोचर के दौरान उसमें सफलता मिलने की सम्भावनाएं बनेंगी। ऐसा भी हो सकता है कि आपको धार्मिक यात्राओं का अवसर मिले अथवा धार्मिक कार्यक्रमों में शामिल होने का मौका मिले। कार्यालय में स्थितियाँ अनुकूल होगी। कामों में सफलता मिलने के भी योग हैं। इस समय में आप काम धंधे को लेकर कुछ नई योजनाएं बना सकते हैं।
आर्थिक स्थिति में भी सुधार होने के योग हैं।

मीन: सूर्य का तुला राशि में गोचर 2017

विरोधियों के द्वारा नुकसान नहीं होगा लेकिन सूर्य के तुला राशि में गोचर के दौरान आपका आत्मविश्वास कुछ कमज़ोर रह सकता है। इस समय वाहन आदि भी सावधानी से चलाने होंगे। इस समय अपनी वाणी पर विशेष संयम रखने की ज़रूरत रहेगी। हां ये बात और है कि सूर्य के तुला में गोचर में आपकी मेहनत के पैसे कहीं फंसे हुए हों तो वो इस समय आपको मिल जाएंगे। नौकरीपेशा को इस समय बड़े ही संयम के साथ निर्वाहन करना होगा।
उपाय
सूर्य के इस गोचरीय परिवर्तन से कष्ट होने की स्थिति में निम्नलिखित उपाय करें:

तांबा, गुड, गेहूं व मसूर की दाल का दान करना शुभता लाएगा। साथ ही "ॐ घृणि सूर्याय नम:" मंत्र का जाप करें। सूर्य भगवान को जल चढ़ाएं। यदि इतने पर भी शांति न मिले तो किसी कर्मकाण्डी से सम्पर्क कर सूर्य मंत्र का जप कराकर हवन कराने से शुभता आएगी।

के दौरान क्या होगा, यह जानने के बाद आप अपने कार्यों की सही योजना बना सकते हैं। आप न केवल अनुकूल समय का सही फायदा उठा पाएंगे, बल्कि विपरीत परिस्थितियों को भी संभालने का तरीका ढूंढ पाएंगे। इसलिए सूर्य के तुला राशि में गोचर के राशिफल को पढ़ अपना जीवन और भी सुखमय बनाएं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine

और भी पढ़ें :