शेयर बाजार में ब्रेकआउट संभव

WD|
-कमल शर्मा
शेयर बाजार के लिए वर्ष 2007 का आखिरी सप्‍ताह उत्‍साहजनक रहा और एक हजार अंक से अधिक बढ़कर इसने यह संकेत दे दिया कि सोमवार यानी 31 दिसंबर से शुरू हो रहे सप्‍ताह में शेयर बाजार ब्रेकआउट हो सकता है। क्रिसमस अवकाश पर गए विदेशी संस्‍थागत निवेशकों की गैर हाजिरी में घरेलू पंटरों ने शेयर बाजार में जमकर गेम खेला।
शेयर बाजार में अभी तेजी बनी रहेगी लेकिन जनवरी के दूसरे सप्‍ताह में बीएसई सेंसेक्‍स में कुछ करेक्‍शन आने की आशंका है क्‍योंकि इस समय हर निवेशक इस उम्‍मीद में शेयर खरीद रहा है कि नए साल में विदेशी निवेशक अपने नए फंड लेकर आ रहे हैं और वे उनसे महँगे भाव पर शेयर खरीदेंगे, लेकिन ऐसा होगा नहीं क्‍योंकि अब विदेशी निवेशक भारतीयों से ज्‍यादा समझदार है।
तकनीकी विश्‍लेषक हितेंद्र वासुदेव का कहना है कि अगले सप्‍ताह में सेंसेक्‍स का रेसिस्टेंस 20500-20584 अंक पर होगा। सेंसेक्‍स बढ़कर 20584 अंक के ऊपर बंद होता है तो तय है कि यह ब्रेकआउट करेगा। ऐसा होता है तो सेंसेक्‍स 24 हजार अंक तक पहुँचने की उम्‍मीद की जा सकती है। साप्‍ताहिक स्‍पोर्ट 19946-19568-18886 पर मिलेगा।

यदि सेंसेक्‍स घटकर 18800 अंक से नीचे बंद होता है तो यह घातक हो सकता है और शार्ट टर्म में तेजी के संकेत नहीं रहेंगे। सेंसेक्‍स के लिए ऊपरी स्‍तर को पार करना और साप्‍ताहिक बंद 20500 अंक से ऊपर होना महत्‍वपूर्ण होगा।
जनवरी महीना कार्पोरेट नतीजों का महीना है और उम्‍मीद की जा रही है कि भारतीय औद्योगिक जगत अक्‍टूबर से दिसंबर की तिमाही के लिए बेहतर नतीजे सामने रखेगा। ये नतीजे उम्‍मीद के अनुरूप आए तो बीएसई सेंसेक्‍स को 22500 अंक पार करने से कोई रोक नहीं पाएगा।

जनवरी से ही आम बजट की तैयारी जोर-शोर से शुरू हो जाएगी और यह तय है कि वर्ष 2008-09 का आम बजट आम आदमी के हित के साथ कार्पोरेट जगत की भलाई वाला होगा क्‍योंकि देश धीरे-धीरे आम चुनावों की ओर जाएगा।
पाकिस्‍तान में बेनजीर भुट्टो की हत्‍या से यह आंशका जताई जा रही थी कि इसका असर भारतीय शेयर बाजार पर नकारात्‍मक पड़ेगा, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ क्‍योंकि पाकिस्‍तान का शेयर बाजार एशियाई बाजारों में अहम भूमिका नहीं निभाता।

लैहमैन ब्रदर्स के इक्विटी विभाग के प्रमुख और प्रबंध निदेशक पंकज वैश्‍य का कहना था कि इस घटना का आरंभिक असर नकारात्‍मक हो सकता है लेकिन भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के मजबूत फंडामेंटल भारतीय बाजारों को मजबूत रखेंगे।
हितेंद्र वासुदेव का मानना है कि वर्ष 2008 में बीएसई सेंसेक्‍स 31213 अंक को छू सकता है। किसी असामान्‍य स्थिति में सेंसेक्‍स के गिरकर 14849 अंक आने की आशंका है। हालाँकि सेंसेक्‍स 23031 अंक से ऊपर रहेगा और यह 31213 अंक की ऊँचाई को नापेगा। वर्ष 2008 में बीएसई कैप गुड्‍स, बीएसई ऑयल एंड गैस, बीएसई मेटल इंडेक्‍स बेहतर रहेंगे।

बीएसई बैंक इंडेक्‍स आउटपरफार्मर होगा। सीएनएक्‍स मिड कैप 200 इंडेक्‍स में मजबूती दिखाई देगी। इस साल अनेक मिड कैप शेयर लार्ज कैप में और स्‍मॉल कैप, मिड कैप में बदलती नजर आएँगी।
अगले वर्ष 2008 में जिन दस कंपनियों के शेयर स्‍टार शेयर होंगे वे हैं : महिंद्रा एंड महिंद्रा, एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, ब्रिटानिया इंडस्‍ट्रीज, रिलायंस कम्‍युनिकेशन, डीएलएफ, बजाज इलेक्ट्रिक्‍स, इंजीनियर्स इंडिया, सीएमसी और एलआईसी हाउसिंग।

जिन कंपनियों के शेयरों पर इस सप्‍ताह निवेशक ध्‍यान दे सकते हैं वे है : बजाज इलेक्ट्रिक्‍स, गार्डन सिल्‍क, रिलायंस पेट्रोलियम, गरवारे ऑफशोर, एमआरओ टेक, त्रिवेणी ग्‍लास, बैंक ऑफ बड़ौदा, बारटोनिक्‍स, ग्‍लोडाइन टेक्‍नोसर्व, बैंक ऑफ बड़ौदा, यस बैंक, वरुण शीपिंग, पार्श्‍वनाथ डेवलपर्स, रिलायंस इंडस्‍ट्रीज, एसबीआई।•य‍ह लेखक की निजी राय है। किसी भी प्रकार की जोखिम की जवाबदारी वेबदुनिया की नहीं होगी।


और भी पढ़ें :