शेयर बाजार में अतिरेक पर लगी लगाम

WD|
कमल शर्मा

में लौटी रौनक की अब बीयर रैली, बुल रैली, पुल बैक, शार्ट टर्म रैली और न जाने ऐसे कितने शब्‍दों के प्रयोग के साथ व्‍याख्‍या की जा रही है। लेकिन वेबदुनिया ने पिछले सप्‍ताह ही कहा था कि शेयर बाजार में अतिरेक का बोलबाला है और यह बात सौ फीसदी सही हुई एवं शेयर बाजार के गहरी मंदी में उतरने की भविष्‍यवाणी करने वाले गलत साबित हुए। शेयर बाजार में आई तेजी कोई भी रैली हो, असल में इससे निवेशकों को फायदा होता है या नहीं, यह अहम है।

यदि किसी रैली से केवल अमुक वर्ग विशेष को ही लाभ हो तो ऐसे में दस हजार क्‍या 25 हजार का सेंसेक्‍स भी आम निवेशक के लिए कोई मायने नहीं रखता। लेकिन मौजूदा सुधार में उन निवेशकों को जरूर फायदा हो रहा है जिन्‍होंने निचले स्‍तर पर फ्रंटलाइन शेयरों में निवेश किया है। मिड कैप और स्‍मॉल कैप के निवेशकों को अभी इंतजार करना होगा। लेकिन निवेशक एक बात का ख्‍याल रखें कि मौजूदा गर्मी भी स्‍टॉक विशेष के लिए अधिक है। अत: निवेशक दाँव लगाते समय शेयर का चयन बेहद ध्‍यान से करें। मौजूदा समय की रणनीति के तहत निवेशक कोशिश करें कि अपने सौदे जितना जल्‍दी हो सके काट दें, ताकि अगली किसी बड़ी बुरी खबर के आने पर खास नुकसान न हो।

विदेशी संस्‍थागत निवेशक जो अब तक सभी जगह बिकवाल थे, भारत और चीन से ज्‍यादा रिटर्न कहीं नहीं पा सकते इसलिए अब बाजार में लौट रहे हैं। विदेशी संस्‍थागत निवेशकों, घरेलू फंडों एवं बड़े निवेशकों ने पिछले दो सप्‍ताह में अनेक बेहतर कंपनियों के शेयर निचले स्‍तर पर खरीदे हैं लेकिन आम निवेशक अभी भी बाजार से दूर हैं, लेकिन यह ध्‍यान रखें कि बाजार जब अपने चरम स्‍तर पर हो उस समय प्रवेश करने से अच्‍छा है कि इसी समय हर सुस्‍ती पर बेहतर कंपनियों के शेयर अपने पोर्टफोलियो में शामिल करने की शुरुआत कर दें। यही रणनीति शेयर बाजार में हमेशा लाभ देती है, लेकिन अकसर अधिकतर निवेशक ऊँचाई पर जाने के बाद निवेश के लिए आगे आते हैं और मात खाते हैं।

30 मार्च से शुरू हो रहे नए सप्‍ताह में बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्‍स 10349 से 9649 के बीच घूमता रहेगा, जबकि नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 3211 से 3011 के बीच कारोबार करेगा। शेयर बाजार में नए वित्तवर्ष के सौदे आज 30 मार्च से शुरू होंगे। उतार-चढ़ाव से भरपूर संभावना वाले इस सप्‍ताह में स्टॉक विशेष में खास आकर्षण बना रहेगा।

सूरत कमर्शियल कॉरपोरेशन के इक्विटी विश्‍लेषक गोपाल मोदी का कहना है कि 29 मार्च 2009 से शुरू हो रहे नए सप्‍ताह का प्राथमिक रुख मजबूती का है। सेंसेक्‍स के उच्‍चतम रेसीसटेंस 10410-10568 है, जबकि 9482 और 9066 से 8908 के बीच मुख्‍य सपोर्ट है। तेजी का कारोबार 9995 अंक का निकट और 9836 अंक का दूर का स्‍टॉप लॉस रखकर करें। यदि आरंभ में बाजार घटने लगे तो संभावित सपोर्ट 9482 के नजदीक है जहाँ से बाजार उछलकर फिर से 9640 से 9738 तक जा सकता है। यदि आरंभ में 9838 के नीचे खुला सेंसेक्‍स टिक नहीं पाता है तो यह 9995 के स्‍तर को पार करते ही तेजी से 10410 से 10568 तक का उछाल दिखाएगा।

मोदी के मुताबिक निफ्टी में 2966 अहम सपोर्ट स्‍तर है। इस स्‍तर के पास यदि आरंभिक गिरावट देखने को मिलती है तो अहम सपोर्ट मिल सकता है। तेजी का कारोबार 3106 के ऊपर ही करना उचित 3106 के ऊपर रहने पर यह 3218 से 3261 के बीच अहम रेसीसटेंस को छूएगा, जबकि 2966 का स्‍तर टूटने पर मंदी का कारोबार करें और 3006 या 3036 का कड़ाई से स्‍टॉप लॉस लगाना सही होगा। सपोर्ट 2854 से 2811 के दौरान सपोर्ट मिलेगा।

कल्‍पतरु मल्‍टीप्‍लायर, भोपाल के वायस चेयरमैन आदित्‍य जैन की राय में इस सप्‍ताह सेंसेक्‍स के रेसीसटेंस स्‍तर 10079-10113-10189-10244-10283-10338-10400-10500-10538-10573- 10632-10690-10743-10812-10858-10900-10941-11014 हैं। जबकि, सपोर्ट स्‍तर 9989-9960-9900-9843-9797-9740-9699-9655-9617-9570-9521-9465-9400- 9336-9279-9247 हैं। निफ्टी के रेसीसटेंस स्‍तर 3122-3147-3180-3205-3244-3272- 3300-3335-3369-3385-3401 हैं। निफ्टी के सपोर्ट स्‍तर 3085-3053-3012-2982-2949- 2925-2899-2864-2842-2825-2803 हैं।

इस सप्‍ताह निवेशक रिलायंस कम्‍युनिकेशंस, जेएसडब्‍लू स्‍टील, सेसा गोवा, टिस्‍को, हिंदुस्‍तान यूनिलीवर, इलेक्‍ट्रोथर्म इंडिया, टेल्‍को, एल एंड टी, ग्‍लोडाइन टेक्‍नोसर्विसेज, अल्‍फा लावल, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, एक्सिस बैंक, एसबीआई, पीएनबी, कामत होटल्‍स, निट, टीसीएस, पेट्रोनेट एलएनजी, आईटीसी, मैक्‍न गीतांजलि जैम्‍स, प्राज इंडस्‍ट्रीज और एचडीआईएल पर ध्‍यान दे सकते हैं।

*यह लेखक की निजी राय है। किसी भी प्रकार की जोखिम की जवाबदारी वेबदुनिया की नहीं होगी।