कोई नहीं जानता इन शिल्पकारों का दर्द...

WD
26 साल के आफताब साड़ियों पर जरी का काम करते हैं। वे अपने परिवार के तीन सदस्यों के साथ मालवा उत्सव में जरी वर्क की साड़ी बेचने के लिए आए हैं। आफताब उत्तरप्रदेश के बनारस के रहने वाले हैं, वही बनारस जहां से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सांसद हैं।

आफताब अपने इस पुश्तैनी काम के बारे में कहते हैं कि उनके परिवार के 12 सदस्यों का भरण-पोषण इसी कला से चलता है। सरकार से आर्थिक सहायता पर वे कहते हैं कि सरकार ने हस्तशिल्प को बचाने के लिए योजनाएं चलाई हैं, लेकिन इसमें प्रक्रिया बहुत लंबी होती है और भ्रष्टाचार होता है इसलिए हमें पैसा नहीं मिल पाता है।


उत्तरप्रदेश में हो रही बिजली कटौती पर आफताब के साथ आए उनके रिश्तेदार साजिद अली का कहना था कि कहने को बनारस प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है, लेकिन जिस दिन मोदी की जीत हुई उसी दिन करीब 6 घंटे की बिजली कटौती हुई। कहने को बनारस वीआईपी सीट हो गई, लेकिन जमीनी हकीकत से वह काफी दूर है।

WD
वहीं दूसरी तरफ उत्तरप्रदेश के भदोही जिले के तस्लीम आरिफ उत्तरप्रदेश सरकार की जमकर तारीफ करते हैं। उनका कहना है कि उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार ने कई योजनाएं चलाई हैं। लड़कियों की शिक्षा से लेकर बच्चों को हर प्रकार की सुविधा दे रही है



कालीन पर हस्तशिल्प का काम करने वाले आरिफ कहते हैं कि सरकार ने शिल्पकारों के लिए कई काम किए हैं। सरकार की शिल्पकार्ड योजना से उन्हें आगरा और लखनऊ में होने वाले मेलों में जाने-आने में कोई किराया नहीं लगता है। उन्हें पूरे भारत में अपनी वस्तुओं की बिक्री के लिए भेजा जाता है, जहां उनका किराया भी नहीं लगता है।

तस्लीम आरिफ से उप्र में हो रही बिजली कटौती के बारे में जब हमने पूछा कि सपा लोकसभा चुनाव में हार का बदला जनता से बिजली कटौती के रूप में ले रही है, तो उन्होंने एक नेता की तरह उत्तर दिया कि यह ‍विपक्षी पार्टी की चाल है। ऐसा कुछ नहीं है।

सुधीर शर्मा|
के लालबाग में चल रहे में देशभर से आए कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन कर रहे हैं। इनके हस्तशिल्प को देखकर हर किसी नजर ठहर जाती है, लेकिन इन कलाकारों के दर्द को कोई नहीं समझता है। ये लोग मेहनत तो खूब करते हैं, लेकिन अपनी जरूरतें बमुश्किल पूरी कर पाते हैं।
जब इन हस्तशिल्प कलाकारों की कला और जिंदगी को नजदीक से जानने की कोशिश की गई तो उनकी बातों में दर्द तो था ही, गुस्सा भी था।
जब सपा सरकार इतने अच्छे काम कर रही है तो उत्तरप्रदेश में इतनी बुरी पराजय क्यों मिली? तो उनका कहना था कि यूपी में जनता ने केंद्र की कांग्रेस सरकार के खिलाफ वोट दिया न कि सपा सरकार के खिलाफ। उत्तरप्रदेश में हो रहे अपराधों पर आरिफ कहते हैं कि देश में क्राइम कहां नहीं हैं।

अगले पन्ने पर, कोलकाता के कलाकारों का दर्द...


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :