असम में उग्रवादी हमला, पाँच मरे

ND
अधिकारियों ने कहा कि प्रतिबंधित संगठन कारबी लोंगरी एनसी हिल्स लिबरेशन फ्रंट (केएलएनएलएफ) के संदिग्ध उग्रवादियों ने तिनसुकिया-लमदिंग यात्री ट्रेन की सामान्य बोगी में एक टाइम संचालित उपकरण से उस समय विस्फोट किया, जब यह सुबह करीब आठ बजे दिफू स्टेशन पहुँची। मौके पर ही एक बच्चे सहित दो यात्रियों की मौत हो गई।

इनकी पहचान कमलसिंह तेरान (26) और राज देबनाथ (7) के तौर पर हुई है। अधिकारियों ने कहा कि महिला यात्री नमिता देबनाथ (25) की मौत दिफू सरकारी अस्पताल में हो गई, जहाँ घायलों को भर्ती कराया गया था। उन्होंने कहा कि दो अन्य को गंभीर हालत में पड़ोसी नगालैंड के दिमापुर सैन्य अस्पताल में भेजा गया है।

उग्रवादियों ने धमाके के बाद डलमारा में हिंदी भाषी दंपति राजू साहू और उसकी पत्नी को गोली मार दी और उनके बच्चे को जख्मी कर दिया। सू़त्रों ने कहा कि घटना को अंजाम देने के बाद उग्रवादी भाग गए और इसके बाद गाँव में दहशत का माहौल है।

दिफू (असम)| भाषा|
के कारबी आंगलोंग जिले में उग्रवादियों ने मंगलवार को एक ट्रेन में विस्फोट किया तथा बाद में एक हिंदी भाषी दंपति को गोली मार दी। इस घटना में कुल पाँच लोगों की मौत हो गई और 34 लोग घायल हो गए।
केएलएनएलएफ के उग्रवादियों ने पहले भी जिले में हिंदी भाषी लोगों को निशाना बनाया है। असम में 30 अक्टूबर को हुए सिलसिलेवार धमाकों के बाद यह दूसरा बड़ा हमला है। (भाषा)


और भी पढ़ें :