अब ब्रेल लिपि में भगवद गीता

नई दिल्ली (एएनआई)| ANI| पुनः संशोधित गुरुवार, 6 दिसंबर 2007 (16:13 IST)
अब हिंदू धर्म की पवित्र धार्मिक पुस्तक ‘श्रीमद भगवद गीता’ को पढ़ने के लिए दृष्टिहीनों के पास यह ग्रंथ ब्रेल लिपि में उपलब्ध होगा।

चित्रकूट के रामानंदाचार्य तुलसी पीठ के पीठाधीश रामभद्राचार्य ने पिछले सप्ताह ही अपने द्वारा लिखी गई भगवत गीता के ब्रेल संस्करण का विमोचन किया।

वहीं इस पुस्तक के प्रकाशक पंडित रामकुमार शर्मा के अनुसार हमने पहले भी कृष्णा चालीसा, दुर्गा चालीसा, हनुमान चालीसा, सुंदर कांड आदि अनेक पुस्तकों का ब्रेल संस्करण प्रकाशित किए हैं।
इस ब्रेल गीता के पीछे रामभद्राचार्य का उद्देश्य दृष्टिहीनों को गीता उपलब्ध कराकर जहाँ एक ओर उन्हें धार्मिक संतुष्टि प्रदान करना है, वहीं दूसरी ओर उन्हें जीवन के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण के लिए प्रेरित करना है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :