पीढ़ियों से ताजिया बना रहा है हिन्दू परिवार

बड़वानी (वार्ता) | वार्ता| पुनः संशोधित शुक्रवार, 9 जनवरी 2009 (11:16 IST)
बड़वानी जिले के में तहसील मुख्यालय पर पचास से अधिक वर्षों से ताजिये बना रहे हिन्दू परिवारों ने यह संदेश दिया है कि गम का रिश्ता किसी कौम विशेष से नहीं है।

राजपुर निवासी छोटे व्यवसायी हीरू भाई पटवा ने बताया कि उनके घर में करीब एक हफ्ते की मेहनत से ताजिया तैयार हुआ।

उनके चार अन्य भाई भी बड़ी शिद्दत से अपने घरों में वर्षों से कला से परिपूर्ण ताजिये बना रहे हैं। उनका कहना है कि मोहर्रम उनके लिए नेकिया कमाने के साथ-साथ उऋण होने का भी सबब है।
वे बताते हैं कि तीन पीढ़ी पूर्व उनके यहाँ संतान होने की मन्नत पूर्ण होने पर परदादा ने ताजिये बनाने की शुरुआत की थी। अब वे तथा उनके अन्य भाई मोहर्रम पर सब कुछ छोड़कर इस काम में लगते हैं।


और भी पढ़ें :