वेबदुनिया पर बनाएँ ब्लॉग

प्रचार-प्रसार पर 25 करोड़ खर्च करेगा वेबदुनिया

WD
WDWD
भारत का पहला बहुभाषी इंटरनेट पोर्टल वेबदुनिया.कॉम जल्द ही उन्नत और आधुनिक तकनीक युक्त ब्लॉग की शुरुआत करने जा रहा है, जिसके माध्यम से यूजर अपना-अपना ब्लॉग बना सकेंगे। यह सुविधा सभी 9 भाषाओं में उपलब्ध होगी।

वेबदुनिया के प्रेसीडेंट और मुख्य परिचालन अधिकारी श्री पंकज जैन ने बताया कि ब्लॉग की शुरुआत अगले महीने तक हो जाएगी। यह बहुत उन्नत किस्म की सुविधा होगी, जहाँ यूजर अपने मित्रों का समूह भी बना सकेंगे।

श्री जैन ने बताया कि कम्प्यूटर के नए जानकारों और इंटरनेट के तेजी से बढ़ते बाजार में अपना स्थान बनाने के लिए वेबदुनिया ने प्रचार-प्रसार पर आगामी तीन सालों में 25 करोड़ रुपए खर्च करने की भी योजना बनाई है।

उन्होंने बताया कि 9 भारतीय भाषाओं में अपनी सेवाएँ दे रहा वेबदुनिया सरकार के इंटरनेट साक्षरता कार्यक्रमों के माध्यम से आ रहे नए कम्प्यूटर साक्षरों और निजी कंपनियों तक अपनी व्यापक पहुँच बनाने की दिशा में कार्य करेगा।

श्री जैन के अनुसार आगामी 5-6 वर्षों में कम्प्यूटर साक्षरों की संख्या में 10 करोड़ की बढ़ोतरी की संभावना है। इनमें से 70 प्रश लोग इंटरनेट पर सक्रिय होंगे। उन्होंने कहा कि हमारा ध्यान इस बात पर भी है कि अँगरेजी ज्ञान का अभाव इंटरनेट के इस्तेमाल में कोई बाधा न बने।

अपने शुरुआती प्रयासों में ही वेबदुनिया तकनीकी श्रेष्ठता हासिल करने के लिए विशेष रूप से अपना ध्यान देगा, जिसकी सहायता से क्षेत्रीय भाषाओं में सर्च इंजन का काम और भी आसान हो जाएगा।

किसी भी शब्द के शुरुआती तीन अक्षर लिख देने से सर्च इंजन उससे संबंधित सारे शब्दों को दर्शाएगा और इस तरह से खोज की प्रक्रिया और भी आसान हो जाएगी। इसके बाद सर्च इंजन उससे संबंधित अन्य सभी शब्द और समस्त समानार्थी शब्द दर्शाएगा, जिससे यूजर को आसानी हो सके।

श्री जैन ने बताया कि कंपनी विदेशी भाषाओं का हिन्दी समेत विभिन्न भारतीय भाषाओं में अनुवाद और स्थानीयकरण का भी काम करती है। वेबदुनिया में अरबिक, हिब्रू, थाई, जापानी, पश्तो, स्पेनिश, फ्रेंच, जर्मन, चीनी समेत विश्व की 30 भाषाओं में अनुवाद और स्थानीयकरण का काम होता है।

इसके अतिरिक्त 11 भारतीय भाषाओं में भी स्थानीयकरण का काम वेबदुनिया करता है। ये भाषाएँ हैं- असमिया, बंगाली, गुजराती, हिन्दी, कन्नड़, मलयालम, मराठी, उड़िया, पंजाबी, तमिल और तेलुगु।

उन्होंने बताया कि वेबदुनिया याहू के 7 क्षेत्रीय भाषाओं के पोर्टलों के लिए भी तकनीक, सामग्री और सेवाएँ प्रदान कर रहा है और एमएसएन इंडिया के पाँच पोर्टलों के लिए भी सेवाएँ उपलब्ध करा रहा है।

चेन्नाई| ND|
श्री जैन के मुताबिक वेबदुनिया के पाठकों की संख्या 15 लाख के करीब है और यह संख्या प्रतिमाह 6 से 8 प्रश की रफ्तार से बढ़ रही है।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :