गर्मियों में नकसीर आने पर

घरेलू नुस्खे

<a class="storyTags" href="/search?cx=015955889424990834868:ptvgsjrogw0&cof=FORID:9&ie=UTF-8&sa=search&siteurl=//hindi.webdunia.com&q=%E0%A4%A8%E0%A4%95%E0%A4%B8%E0%A5%80%E0%A4%B0" target="_blank">नकसीर </a>आने पर
NDND
गर्मी के मौसम में कई लोगों की नकसीर चलने लगती है यानी आने लगता है। नकसीर चलने पर ये करें-

* का रस नाक से खींचने से नकसीर तुरंत बंद हो जाती है।

*नथुनों में अनार का रस डालने से नाक से रक्त आना बंद हो जाता है।

*नकसीर आने पर नथुनों में २-३ बूँद नीबू का रस टपकाने से नाक से रक्त गिरना तुरंत बंद हो जाता है।

*नकसीर आने पर प्याज का रस नाक में डालें। प्याज का रस नाक और गले के संक्रमण को ठीक करता है।

*तुलसी का रस नाक में टपकाने से रक्तस्राव बंद हो जाता है।

*नाक से रक्तस्राव होने पर पहले दूब (घास) का रस सूँघें, फिर नाक में कुछ बूँदें इसकी डालें। इससे लाभ होगा।

*ठंडा पानी सिर पर धार बाँधकर डालने से भी रक्त गिरना बंद होता है।

*हरे धनिए का रस सुँघाने और पत्तियों को पीसकर सिर पर लेप करने से गर्मी के कारण नाक से बहने वाला रक्त रुक जाता है।

*प्रातः भूखे पेट नित्य नारियल खाने से नकसीर आना बंद हो जाता है।

*एक बड़ा चम्मच मुलतानी मिट्टी रात को मिट्टी के बर्तन में आधा लीटर पानी में भिगो दें। प्रातः पानी को निथारकर पिएँ। नकसीर में लाभ मिलेगा।

*जिन्हें प्रायः नकसीर आती रहती है, वे सूखे आँवलों को रात को भिगोकर उस पानी से नित्य प्रातः सिर धोएँ या आँवले का मुरब्बा खाएँ।

*दूध में शकर मिलाकर केले के साथ निरंतर एक सप्ताह तक सेवन करें।

ND|
अर्चना जै
परोगी को गर्दन के पीछे झुकाकर लेटा दें और उसकी दोनों नाक के नथुनों में 4-5 बूँद देशी घी की डालकर रोगी को इसे साँस से अंदर खींचने को कहे। नाक से खून टपकना बंद हो जाएगा।


और भी पढ़ें :