इसरो का 'भुवन' दिखाएगा दुनियाभर के नजारे

ND|
ND
ND
एक ही समय एक ही स्थान से पूरी दुनिया की सैर कराने वाले सॉफ्टवेयर की तर्ज पर (इसरो) ने भी अपनी एक प्रणाली तैयार कर ली है। 'भुवन' नाम की इस सेवा का शुभारंभ बुधवार को किया जाएगा। इस वेबपोर्टल के जरिए कोई भी अपने कम्प्यूटर पर दुनियाभर की सैटेलाइट तस्वीरें देख सकेगा।

संस्कृत का एक शब्द है, जिसका मतलब हिन्दी में पृथ्वी होता है। इसके जरिए उपभोक्ता दुनिया के किसी भी स्थान का नजारा देख सकेगा, लेकिन सैन्य व परमाणु प्रतिष्ठान जैसे संवेदनशील स्थान इसमें दिखाई नहीं देंगे। भुवन का शुभारंभ इसरो के अध्यक्ष जी. माधवन नायर करेंगे।
भुवन वेबपोर्टल में दिखाई देने वाली तस्वीरें इसरो के सात रिमोट सेंसिंग सैटेलाइटों से एक वर्ष पूर्व ली गई थी। इसमें आसमान में काफी ऊपर से दिखने वाली पृथ्वी की तस्वीरें, सड़क पर चलती कार बेहद स्पष्ट दिखाई देगी।

विशेष बात यह है कि भुवन वेबपोर्टल में दिखाई देने वाली तस्वीरें गूगल अर्थ से भी ज्यादा स्पष्ट दिखाई देंगी। इसमें शामिल तस्वीरों के लिए 10 मीटर रिजॉल्यूशन लिया गया है, बल्कि ऐसी सेवा देना वाली अन्य सेवाओं में 200 मीटर का रिजॉल्यूशन लिया गया है।
षड्यंत्रकारियों तक पहुँच: पिछले कुछ वर्षों में देश में हुए श्रृंखलाबद्ध बम धमाकों के बाद इसरो में भुवन जैसी प्रणाली तैयार करने की योजना बनी। यदि अब कोई षड्यंत्रकारी भुवन की सैटेलाइन तस्वीरों से धमाकों की योजना बनाएगा, तो उसे भुवन की टीम आसानी से ढूँढ निकालेगी।


और भी पढ़ें :