लेदर इंडस्ट्री में अवसर

ND
ND
इस तथ्य से कतई इनकार नहीं किया जा सकता है कि लेदर इंडस्ट्री का भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में महत्वपूर्ण योगदान है। बहुमूल्य विदेशी मुद्रा की कमाई करने वाले प्रमुख क्षेत्रों में लेदर इंडस्ट्री का नाम भी लिया जाता है। देश में लेदर से तैयार विभिन्न उत्पादों का बाजार लगभग 20 प्रतिशत वार्षिक वृद्धि दर से बढ़ रहा है। इस उद्योग से लगभग 30 लाख लोगों को प्रत्यक्ष या परोक्ष तौर पर रोजगार मिला हुआ है।

असल में चर्म उत्पादों के कारोबार में तेजी का सबसे बड़ा कारण है देश में विश्व की कुल गोपशुओं की 21 प्रतिशत आबादी और बकरियों व भेड़ों की लगभग 11 प्रतिशत संख्या का होना। इन पशुओं की इस विशाल संख्या के कारण ही देश में लेदर रॉ मैटेरियल प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है और इसी की बदौलत लेदर से बने तमाम उत्पादों का उत्पादन कार्य तेजी पर है।

लेदर से तैयार किए जाने वाले प्रमुख उत्पादों में लेदर गारमेंट्स, लेदर बैग, लेडीज हैंडबैग, वैलेट्स, लेदर गिफ्ट सैट्स, लैपटॉप बैग्स, लगेज बैग, ब्रीफकेस, सोफा कवर, कार सीट कवर, फुटवियर, लेदर पैंट्स इत्यादि का उल्लेख किया जा सकता है। इन उत्पादों की माँग देश और विदेशों में निरंतर बढ़ रही है।

लेदर गारमेंट्स न सिर्फ स्टेटस सिंबल बल्कि फैशनेबल गारमेंट्स के रूप में भी जाने जाते हैं इस प्रकार के कार्यकलापों में कई प्रकार के ट्रेंड और विभिन्न हुनरमंद लोगों की जरूरत पड़ती है।

इनमें लेदर फुटवियर और लेदर एसेसरीज की डिजायनिंग और मैन्यूफैक्चरिंग का विशेष तौर पर उल्लेख किया जा सकता है। इनमें भी कंप्यूटर एडेड डिजायनिंग (कैड) के जानकारों की माँग बहुत ज्यादा है। इतना ही नहीं, विभिन्न प्रकार के लेदर प्रोडक्ट्स की रेंज में विशेषज्ञता हासिल करने वालों के लिए रोजगार के अवसर कुछ कम नहीं हैं।

यह सच्चाई है कि वर्तमान में इस इंडस्ट्री में भलीभांति प्रशिक्षित कर्मियों का अभाव है लेकिन बहुराष्ट्रीय कंपनियों के आने और प्रोडक्शन कार्यकलापों में अत्याधुनिक मशीनों के बढ़ते प्रयोग के कारण इस क्षेत्र में प्रशिक्षित लोगों की माँग आने वाले समय में बहुत तेजी से बढ़ेगी।

ND|
- अशोक सिंह
जैसा कि पहले भी उल्लेख किया जा चुका है कि युवाओं के लिए इस क्षेत्र में बुनियादी तौर पर निर्माण के कई विकल्प हो सकते हैं। इनमें डिजाइनिंग, प्रोडक्शन और मार्केटिंग से जुड़े तकनीकीकर्मी के रूप में करियर निर्माण के बारे में सोचा जा सकता है।


और भी पढ़ें :