ग्लैमर के साथ सेवा का अवसर

ND
भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय पुलिस सेवा तथा केंद्रीय सेवाओं के समूह क तथा ख में संघ लोक सेवा आयोग द्वारा पूरे देश में आयोजित ऑल इंडिया कंबाइंड काम्पेटेटिव एक्जामिनेशन के माध्यम से प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है। तथापि भारतीय वन्य सेवा में प्रवेश की प्रक्रिया अलग है।

राज्य सरकारों की सिविल सेवाओं में प्रवेश के लिए राज्य सरकारों के लोक सेवा आयोगों (पीएससी) द्वारा प्रतिस्पर्धी परीक्षा आयोजित की जाती है। इन प्रतियोगी परीक्षाओं की कड़ी प्रतिस्पर्धा का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 400 से 500 रिक्तियों के लिए लाखों परीक्षार्थी शामिल होते हैं। इसलिए इस क्षेत्र में करियर बनाने वालों को जमकर तैयारी करना चाहिए।

पात्रता- सिविल सेवा परीक्षाओं में शामिल हो रहे प्रत्याशियों को यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि वे परीक्षा में शामिल होने की सारी पात्रताएँ रखते हैं। जो प्रत्याशी अंतिम वर्ष की परीक्षा में शामिल हुए हैं तथा जिनका परिणाम प्रतीक्षित है, वे भी आवेदन कर सकते हैं, लेकिन उन्हें मुख्य परीक्षा में शामिल होने के लिए परीक्षा उत्तीर्ण करने का प्रमाण प्रस्तुत करना होगा। इस परीक्षा में किसी भी विषय के स्नातक शामिल हो सकते हैं। सरकार द्वारा अधिमान्य तकनीकी तथा प्रोफेशनल अर्हताधारी भी इसमें प्रवेश ले सकते हैं।
भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय पुलिस सेवा तथा केंद्रीय सेवाओं के समूह क तथा ख में संघ लोक सेवा आयोग द्वारा पूरे देश में आयोजित ऑल इंडिया कंबाइंड काम्पेटेटिव एक्जामिनेशन के माध्यम से प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है।


राष्ट्रीयता-
(1) भारतीय प्रशासनिक सेवाओं (आईएएस) तथा भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) में करियर बनाने वालों को भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।
(2) अन्य सेवाओं के लिए प्रत्याशी की राष्ट्रीयता निम्नानुसार होनी चाहिए :
(क) वह या तो भारतीय नागरिक हो, या
(ख) नेपाल का नागरिक हो, या
(ग) भूटान का नागरिक हो, या
(घ) भारत में स्थायी रूप से रहने के लिए आया तिब्बत का विस्थापित या
(ङ) भारतीय मूल का व्यक्ति जो स्थायी रूप से भारत में रहने के लिए पाकिस्तान, बर्मा, श्रीलंका, पूर्वी अफ्रीकी देशों- केन्या, यूगांडा, यूनाइटेड रिपब्लिक ऑव तंजानिया, जाम्बिया, मालावी, जायरे, इथियोपिया तथा विएतनाम से आया हो। इन प्रत्याशियों को भारत सरकार द्वारा जारी प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। यह प्रत्याशी भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) में नियुक्ति के पात्र नहीं होंगे।

आयु सीमा- परीक्षा आयोजित किए जाने वाले वर्ष 1 अगस्त को प्रत्याशी की आयु 21 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए। अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के प्रत्याशियों को उच्च आयु सीमा में छूट दी जाएगी।

आवेदन प्रक्रिया- संघ लोक सेवा आयोग ने अपनी समस्त परीक्षाओं के लिए एक कॉमन आवेदन पत्र तैयार किया है जिसे कम्प्यूटराइज्ड मशीनों पर प्रोसेस किया जाता है। निर्धारित भुगतान पर यह आवदेन पत्र मय इंफरमेशन ब्रोशर जिसने आवेदन प्रपत्र भरने के अनुदेश दिए गए हैं तथा एक प्राप्ति सूचना कार्ड और आवेदन प्रेषित करने के लिफाफे सहित देश के सभी मुख्य डाकघरों पर उपलब्ध कराए जाते हैं। यह फार्म अन्य किसी एजेंसी से खरीदने के बजाय केवल विनिर्दिष्ट पोस्ट ऑफिस से ही खरीदना चाहिए। इस आवेदन को केवल एक बार, एक ही परीक्षा के लिए उपयोग में लिया जा सकता है।

ND|
- अशोक जोशी
स्रोत : नईदुनिया अवसर


और भी पढ़ें :