क्रिमिनोलॉजी में करियर

ND
ND
आज के दौर में दिनोदिन बढ़ते ही जा रहे हैं। ऐसे में अपराधों की छानबीन के क्षेत्र में की प्रबल संभावनाएँ भी बढ़ रही हैं। अगर आप अपराध की जांच-पड़ताल में रुचि रखते हैं तो आपके लिए क्रिमिनोलॉजी बेहतर करियर ऑप्शन हो सकता है।

कार्यक्षेत्र :

क्रिमिनोलॉजिस्ट का प्रमुख काम है घटनास्थल से अपराधी के खिलाफ सबूत जुटाने में जाँच दल की मदद करना। साथ ही, अपराध से संबंधित परिस्थितियों का अध्ययन करना, अपराध करने का कारण तथा समाज पर इसका प्रभाव जानना इनके कार्यक्षेत्र के अंतर्गत आता है। यह एक ऐसा करियर हैं जो तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। क्रिमिनोलॉजिस्ट समाज को अपराध से बचाने में मदद भी करता है।

कोर्स :

इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए बीए या बीएससी इन क्रिमिनोलॉजी में दाखिला ले जा सकते हैं जिसकी अवधि 3 वर्ष है। इसके लिए आर्ट या साइंस में बारहवीं पास होना अनिवार्य है। इसके अलावा पोस्ट ग्रेजुएट, डिग्री या डिप्लोमा इन क्रिमिनोलॉजी भी कर सकते हैं जिसके लिए आर्ट या साइंस विषय में स्नातक डिग्री आवश्यक है।

व्यक्तिगत गुण :

कानून व्यवस्था पर आस्था और जिज्ञासा।

तर्क एवं व्यावहारिक सोच।

टीम भावना के साथ काम करना।

हर तरह के चुनौती से निपटने के लिए तैयार रहना।

दूरदर्शी होना।

ND
ND
कहाँ हैं अवसर :

क्रिमिनोलॉजिस्ट सरकारी व नि‍जी कंपनियों, सोशल वेलफेयर डिपार्टमेंट, एनजीओ, रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन, प्राइवेट सिक्योरिटी तथा डिटेक्टिव एजेंसियों में रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, क्रिमिनोलॉजिस्ट काउंसलर तथा फ्रीलांसर के तौर पर भी कार्य कर सकते हैं। क्रिमिनोलॉजिस्ट से संबंधित कोर्स करने के बाद क्राइम इंटेलिजेंस, लॉ रिफार्म रिसर्चर, कम्युनिटी करेक्शन कोऑर्डिनेटर, ड्रग पॉलिसी एडवाइजर, कंज्यूमर एडवोकेट, इनवायरनमेंट प्रोटेक्शन एनालिस्ट के पद पर कार्य कर सकते हैं।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ :

आज जिस तरह टेक्नोलॉजी में तेजी से प्रगति हो रही है उसी तेजी से क्राइम भी बढ़ रहा है। दिनोदिन बढ़ते हुए क्राइम को देखकर विशेषज्ञों का मानना है कि 2014 तक इस क्षेत्र में ऐसे प्रोफेशनल्स की बहुत जरूरत पड़ेगी।

कमाई :

प्रारंभिक दौर में एक क्रिमिनोलॉजिस्ट प्रतिमाह 10 से 15 हजार रुपए प्रतिमाह कमा सकता है। अनुभव प्राप्त करने के बाद 20 से 25 हजार रुपए आसानी से कमाए जा सकते हैं। इसके अलावा, फ्रीलांसर के तौर पर वह केस के अनुसार अपनी फीस तय करता है। अगर आप विदेशों में नौकरी तलाश करें तो वहाँ आपको बेहतर वेतन मिल सकता है।

प्रमुख संस्थान :

आंध्र यूनिवर्सिटी, विशाखापत्तनम

लोक नायक जयप्रकाश नारायण नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ क्रिमिनोलॉजी एंड फारेंसिक सांइस

पटना यूनिवर्सिटी, बिहार

पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़

यूनिवर्सिटी ऑफ मद्रास, चेन्नई

यूनिवर्सिटी ऑफ लखनऊ

यूनिवसिर्टी ऑफ जम्मू, जम्मू एंड कश्मीर

ND|
- मिताल
नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ क्रिमिनोलॉजी एंड फारेसिंक साइंस, दिल्ली


और भी पढ़ें :